Woman slapped mad lover in police station premises in Indore

इंदौर में प्यार का ‘पंचनामा’, मुकम्मल न हुआ इश्क तो युवक ने 7 लोगों को सुलाया मौत की नींद, महिला ने जड़ा तमाचा

इंदौर अग्निकांड के आरोपी ‘‘सिरफिरे आशिक’’ को महिला ने थाना परिसर में जड़ा थप्पड़: Woman slapped mad lover in police station premises in Indore

Edited By :   Modified Date:  November 29, 2022 / 08:46 PM IST, Published Date : May 8, 2022/4:56 pm IST

इंदौर: मध्यप्रदेश के इंदौर की रिहायशी इमारत में आग लगाकर सात लोगों की हत्या के आरोप में गिरफ्तार कथित ‘सिरफिरे आशिक’ को विजय नगर पुलिस थाना परिसर में एक महिला ने रविवार को सरेआम थप्पड़ जड़ दिया।  अधिकारियों के मुताबिक यह महिला शुभम दीक्षित उर्फ संजय (27) से परेशान उस 22 वर्षीय युवती की बड़ी बहन है जिससे शादी में नाकाम रहने पर दीक्षित ने शुक्रवार और शनिवार की दरमियानी रात स्वर्ण बाग कॉलोनी की रिहायशी इमारत की पार्किंग में युवती के स्कूटर को आग के हवाले कर दिया था। उन्होंने बताया कि बाद में लपटों ने गहरे धुएं के साथ बढ़कर विकराल रूप धारण कर लिया था जिससे इमारत में रहने वाले एक दम्पति समेत सात लोगों की मौत हो गई थी।

Read more :  बिहार के 13 जिला कलेक्टर सहित 30 से अधिक प्रशासनिक अफसरों का तबादला, यहां देखिए पूरी सूची

युवती की बड़ी बहन ने जड़ा थप्पड़

चश्मदीदों ने बताया कि दीक्षित से परेशान युवती की बड़ी बहन अपनी छोटी बहन से मिलवाए जाने मांग के साथ विजय नगर थाने पहुंची थी। तभी उसे पुलिस कर्मियों के साथ दीक्षित आता दिखाई दिया और युवती की बड़ी बहन ने गुस्से में आकर उसे थप्पड़ जड़ते हुए पूछा कि उसे सात लोगों की जान लेकर आखिर क्या मिला? चश्मदीदों के मुताबिक दीक्षित को थाना परिसर में अचानक थप्पड़ पड़ने से सकपकाए पुलिस कर्मियों ने बीच-बचाव करके आरोपी को इस कुपित महिला से दूर किया। अपनी छोटी बहन को दीक्षित द्वारा एकतरफा प्रेम में लम्बे समय से परेशान किए जाने का आरोप लगाते हुए महिला ने कहा कि भीषण अग्निकांड के आरोपी को ‘‘फांसी से भी ज्यादा सजा’’ दी जानी चाहिए।

Read more :  IPL 2022 : दिल्ली की टीम में दूसरी बार कोरोना की एंट्री, नेट गेंदबाज हुए संक्रमित, पूरी टीम हुई आइसोलेट

आग लगाकर सात लोगों की हत्या

चश्मदीदों के मुताबिक गिरफ्तारी के बाद पूछताछ के लिए विजय नगर थाने लाए गए दीक्षित के एक हाथ और एक पैर पर पलस्तर चढ़ा हुआ था और वह लंगड़ाते हुए चल रहा था। विजय नगर पुलिस थाने के प्रभारी तहजीब काजी ने दावा किया कि आग लगाकर सात लोगों की हत्या का आरोपी लोहा मंडी क्षेत्र में सड़क का डिवाइडर फांदते वक्त गिरकर घायल हो गया, जब वह शनिवार और रविवार की दरमियानी रात पुलिस दल को सामने देखकर बचकर भागने की कोशिश कर रहा था। विजय नगर थाना परिसर में दीक्षित को दिवंगत दम्पति-ईश्वर सिंह सिसोदिया (45) और नीतू सिसोदिया (44) के परिजनों के गुस्से का भी सामना करना पड़ा जिन्होंने उसे जमकर कोसा और उसे फांसी की सजा दिए जाने की मांग की।

Read more :  शायद ही कोई तोड़ पाए क्रिकेट के ये बड़े रिकॉर्ड्स, एक खिलाड़ी ने तो ठोके 61 हजार से ज्यादा रन… 

भीषण अग्निकांड में मारे गए सात लोग

पुलिस अधिकारियों के मुताबिक सिसोदिया दम्पति स्वर्ण बाग कॉलोनी की रिहायशी इमारत में शनिवार तड़के हुए भीषण अग्निकांड में मारे गए सात लोगों में शामिल हैं। उन्होंने बताया कि यह दम्पति इमारत की निचली मंजिल के फ्लैट में किराए पर रहता था क्योंकि इसके सामने ही उनका मकान बन रहा था। ईश्वर सिंह सिसोदिया के छोटे भाई भेरू सिंह सिसोदिया अग्निकांड की शिकार इमारत के ठीक सामने के घर में रहते हैं और वह इस घटना के चश्मदीद भी हैं।

 
Flowers