राकांपा नेता ने ‘आजादी’ वाले बयान पर कंगना के खिलाफ राजद्रोह की शिकायत दर्ज कराई

राकांपा नेता ने ‘आजादी’ वाले बयान पर कंगना के खिलाफ राजद्रोह की शिकायत दर्ज कराई

Edited By: , November 24, 2021 / 09:03 PM IST

मुंबई, 24 नवंबर (भाषा) राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के एक नेता ने बुधवार को अभिनेत्री कंगना रनौत के खिलाफ यहां एक मजिस्ट्रेटी अदालत में शिकायत दर्ज कराते हुए 1947 में भारत की स्वतंत्रता को ‘भीख’ के रूप में वर्णित करने वाली उनकी टिप्पणी के लिए राजद्रोह का मुकदमा शुरू करने का अनुरोध किया।

राकांपा की अल्पसंख्यक शाखा के राष्ट्रीय महासचिव यूसुफ परमार ने अपने वकील के माध्यम से भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 124ए (राजद्रोह) और राष्ट्रीय गौरव अपमान निवारण कानून, 1971 की धारा दो के तहत उपनगर बोरीवली में मजिस्ट्रेटी अदालत में शिकायत दर्ज कराई।

वकील एशले कुशर के माध्यम से दायर शिकायत में दावा किया गया है कि इस महीने की शुरुआत में नयी दिल्ली में पद्म श्री पुरस्कार मिलने के बाद अदाकारा ने सोशल मीडिया के साथ-साथ टीवी शो में भी आधारहीन बयान देना शुरू कर दिया, जिससे समाज में वैमनस्य पैदा हुआ।

शिकायतकर्ता ने कहा कि हाल में टीवी पर एक साक्षात्कार में रनौत ने स्वतंत्रता सेनानियों की आलोचना करते हुए कहा, ‘‘1947 में हमें जो मिला वह आजादी नहीं थी, वह भीख थी। हमें 2014 में आजादी मिली।’’ परमार ने कहा कि यह बयान आपत्तिजनक है और इस देश के नागरिकों की भावनाओं को आहत करता है और विशेष रूप से संविधान पर हमला है।

शिकायतकर्ता ने कहा, ‘‘आरोपी ने इस महान राष्ट्र के स्वतंत्रता सेनानियों और शहीदों को नीचा दिखाया, जिन्होंने वर्ष 1947 में स्वतंत्रता प्राप्त करने के लिए सर्वस्व न्योछावर किया।’’ शिकायतकर्ता ने अदालत से अपराध का संज्ञान लेने और आरोपी को कानून के प्रावधानों के अनुसार दंडित करने का आग्रह किया। अदालत याचिका पर सात जनवरी को सुनवाई करेगी।

भाषा आशीष उमा

उमा