India 5 players not farewell with respect

इस वजह से संन्यास लेने को मजबूर हुए भारत के ये 5 खिलाड़ी, रिटायर के बाद भी नहीं मिला सम्मान

इस वजह से संन्यास लेने को मजबूर हुए भारत के ये 5 खिलाड़ी! India 5 players not farewell with respect

Edited By: , August 12, 2022 / 04:45 PM IST

नईदिल्ली। India 5 players not farewell एक क्रिकेटर को अपने करियर के दौरान जितने फैसले लेते है, उसमें सबसे कठीन फैसला रिटायरमेंट होता है। हर किक्रेटर चाहता है कि जब उसकी रिटायरमेंट हो तो मैदान में पूरे सम्मान के साथ विदाई हों लेकिन भारतीय क्रिकेटर में लेकिन भारत के कुछ ऐसे किक्रेटर भी ही जिन्हें बिना सम्मान के साथ विदाई मिली है।

Read More: अंजली अरोड़ा का एक और वीडियो हुआ रिलीज, सोशल मीडिया में मचा रहा धमाल

अपने काबिलियत पर भारत को ऐतेहासिक जीत दिलाने वाला महेंद्र सिंह धोनी अचानक साल 2014 में संन्यास का ऐलान किया था। और 15 अगस्त 2020 को टी20 इंटरनेशल से भी संन्यास ले लिया। वो विदाई के हकदार थे। लेकिन उन्हें सम्मान के साथ विदाई नहीं मिली।

Read More: अपने क्यूट बबली अंदाज से सब के दिलों पर राज करती हैं शहनाज गिल 

वहीं 15 शतक और 38 अर्धशतक लगाने वाले वीरेंद्र सहवाग ने भारत के लिए 104 टेस्ट खेले है। जिसमें वो 8586 रन बनाए। वहीं 251 वनडे में 8273 रन बनाए। जिसके बाद वीरू साल 2015 में संन्यास ले लिया था। लेकिन उन्हें भी सम्मान से विदाई नहीं मिला।

Read More: इस बड़े नेता ने दिया पार्टी से इस्तीफा, प्रशांत किशोर के साथ जदयू से किए गए थे निष्कासित 

पाकिस्तान के खिलाफ टी20 कप और श्रीलंका के खिलाफ वनडे के हीरो गौतम गंभीर ने भी 2018 में संन्यास ले लिया था। वो सम्मान से विदाई के हकदार थे, लेकिन उनका भी सम्मान नहीं हुआ।

Read More: मां-बाप का साया उठने के बाद सीएम ने अनाथ बच्चों के साथ मनाया रक्षाबंधन, बच्चों को सुनाई कहानियां 

जाहीर खान लंबे समय से चोटिल चल रहे थे। जिसकी वजह से उन्हें टीम इंडिया से बाहर रखा गया था। वो आखिरी वनडे वो अगस्त 2012 में खेला था। जिसके बाद वो टीम में वापसी नहीं कर सके। उन्हें भी सम्मान नहीं मिला।

Read More: लटेरी में हुए गोली कांड को लेकर सियासी पारा हाई, कांग्रेस ने की वन मंत्री से इस्तीफे की मांग

साल 2012 में वो क्रिकेट को अलविदा कह दिया था। वो प्रदर्शन में काफी अच्छी रही। जिन्हों ने वनडे और टेस्ट में 10000 रन बनाए उनका भी संन्यास हुआ तो सम्मान नहीं हुआ।

IBC24 की अन्य बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें