केकेआर की जीत का मंत्र, एक दूसरे का समर्थन करना: राणा |

केकेआर की जीत का मंत्र, एक दूसरे का समर्थन करना: राणा

केकेआर की जीत का मंत्र, एक दूसरे का समर्थन करना: राणा

:   Modified Date:  May 12, 2024 / 10:40 AM IST, Published Date : May 12, 2024/10:40 am IST

कोलकाता, 12 मई (भाषा) कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) के उप कप्तान नितीश राणा का मानना है कि इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के वर्तमान सत्र में उनकी टीम को मिली सफलता की कुंजी उतार-चढ़ाव के दौर में एक दूसरे का समर्थन करना है जैसा कि वह पिछले दो वर्षों में नहीं कर पा रहे थे।

दो बार के चैंपियन केकेआर ने शनिवार को यहां बारिश से प्रभावित मैच में मुंबई इंडियंस को 18 रन से हराकर प्लेऑफ में अपनी जगह सुरक्षित की। वह नॉकआउट चरण में जगह बनाने वाली पहली टीम है। यह 2021 के बाद पहला अवसर है जबकि केकेआर की टीम प्लेऑफ में पहुंची है।

राणा ने मैच के बाद संवाददाता सम्मेलन में कहा,‘‘हम एक साथ जीतते हैं और एक साथ हारते हैं। हमारे ड्रेसिंग रूम में इसी तरह का माहौल है। एक दूसरे का समर्थन करना बेहद महत्वपूर्ण है और मुझे लगता है कि पिछले एक या दो वर्षों में टीम में इस चीज की कमी थी।’’

केकेआर को सबसे बड़ा झटका पंजाब किंग्स के खिलाफ लगा था। पंजाब किंग्स ने तब 262 रन का लक्ष्य हासिल करके नया रिकॉर्ड बनाया था।

राणा ने कहा,‘‘उस दिन हमें बहुत बुरा लगा था। मैं उस दिन ड्रेसिंग रूम के माहौल का गवाह रहा हूं। तब केवल तीन या चार खिलाड़ियों ने ही रात का भोजन किया था।’’

नियमित कप्तान श्रेयस अय्यर की अनुपस्थिति में पिछले सत्र में टीम की अगुवाई करने वाले राणा ने उंगली की चोट से उबरने के बाद वापसी की है। वह पिछले 10 मैच में नहीं खेल पाए थे। उन्होंने 23 गेंद पर 33 रन की पारी खेली।

राणा ने कहा,‘‘ईमानदारी से कहूं तो चोटिल होने के कारण मैं 20-22 दिनों तक बल्ला नहीं छू पा रहा था। इसके बाद परिस्थितियां अनुकूल होती गई। मैं अपने दिमाग में पारी खेलता था। ’’

मुंबई इंडियंस की टीम पहले ही प्लेऑफ की दौड़ से बाहर हो चुकी है। उसके स्पिनर पीयूष चावला ने कहा कि उनकी टीम इस सत्र में लय हासिल करने में नाकाम रही।

चावला ने कहा,‘‘टी20 का खेल लय से जुड़ा होता है और हम शुरू से ही लय हासिल नहीं कर पाए। किसी दिन हमने अच्छी गेंदबाजी की तो हमारे बल्लेबाज नहीं चल पाए और जब हमारे बल्लेबाजों ने अच्छा प्रदर्शन किया तो गेंदबाजों ने रन लुटा दिए।’’

उन्होंने कहा,‘‘एक इकाई के तौर पर हम कुछ मैच में नाकाम रहे और एक टीम के रूप में हम इसे स्वीकार करते हैं। हमारी टीम बहुत अच्छी है लेकिन चीजें हमारे अनुकूल नहीं रही।’’

भाषा

पंत

पंत

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Flowers