मंधाना की 86 रन की पारी के दम पर भारत का चुनौतीपूर्ण स्कोर

मंधाना की 86 रन की पारी के दम पर भारत का चुनौतीपूर्ण स्कोर

Edited By: , September 24, 2021 / 03:10 PM IST

मैकॉय, 24 सितंबर (भाषा) सलामी बल्लेबाज स्मृति मंधाना की 86 रन की संयमित पारी के दम पर भारतीय महिला क्रिकेट टीम ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीन मैचों की श्रृंखला के दूसरे एकदिवसीय मैच में शुक्रवार को पहले बल्लेबाजी करते हुए सात विकेट पर 274 रन बनाये।

टॉस गंवाने के बाद पहले बल्लेबाजी का निमंत्रण मिलने पर मंधाना और शेफाली वर्मा (22) ने पहले पावरप्ले (शुरुआती 10 ओवर) में 68 रन बनाकर भारत को शानदार शुरुआत दिलायी। इस साल खेले गये 10 एकदिवसीय मैचों में यह दोनों की सर्वश्रेष्ठ साझेदारी है। यह जोड़ी हालांकि  74 रन की साझेदारी करने के बाद 12वें ओवर की पहली गेंद पर शेफाली के आउट होने से टूट गयी। उन्हें सोफी मोलिनेक्स ने बोल्ड किया।

मंधाना ने इसके बाद विकेटकीपर बल्लेबाज रिचा घोष (44) के साथ भी चौथे विकेट के लिए 76 रन की शानदार साझेदारी की। रिचा ने 50 गेंद की पारी में  तीन चौके और एक छक्का जड़ा।

भारत की ओर से पूजा वस्त्राकर ने 29 और झूलन गोस्वामी ने नाबाद 28 रन बना कर अच्छा योगदान दिया।

ऑस्ट्रेलिया का 2018 में अजेय क्रम शुरू होने के बाद पिछले 25 मैचों में यह किसी टीम का उसके खिलाफ सबसे बड़े स्कोर है।  

  शानदार लय में चल रही कप्तान मिताली राज (आठ) मंधाना के साथ गफलत का शिकार होकर रन आउट हो गयी। अपना दूसरा एकदिवसीय खेल रही यास्तिका भाटिया (तीन) भी बड़ा स्कोर करने में नाकाम रही।

भारतीय टीम कम अंतराल में तीन विकेट गंवाने के बाद परेशानी में थी लेकिन मंधाना और रिचा की शानदार साझेदारी ने टीम को मुश्किल परिस्थिति से बाहर निकाला। दोनों ने रन गति बनाये रखी और ऑस्ट्रेलिया गेंदबाजों को हावी होने का मौका नहीं दिया।

पूजा और झूलन ने आखिरी ओवरों में 53 रन की साझेदारी कर टीम के स्कोर को 250 के पार पहुंचाया। झूलन ने इस दौरान आक्रामक बल्लेबाजी करते हुए 25 गेंद की नाबाद पारी में तीन चौके लगाये।

ऑस्ट्रेलिया की तरफ से ताहलिया मैकग्रा ने 45 रन देकर तीन विकेट लिये जबकि मोलिनिक्स ने दो विकेट झटके।

भारत को श्रृंखला में बनाये रखने का दारोमदार अब गेंदबाजों पर है, जिन्हें पिछले मैच की तुलना में अपने प्रदर्शन में काफी सुधार करना होगा।

भाषा आनन्द पंत

पंत