National level coaching started in Raipur for IIT and Medical, expert teac

IIT और मेडिकल के लिए रायपुर में राष्ट्रीय स्तर की कोचिंग शुरू, कोटा और दिल्ली के एक्सपर्ट शिक्षक पढ़ाएंगे

IIT और मेडिकल के लिए रायपुर में राष्ट्रीय स्तर की कोचिंग शुरू, कोटा और दिल्ली के एक्सपर्ट शिक्षक पढ़ाएंगे National level coaching started in Raipur for IIT and Medical, expert teachers from Kota and Delhi will teach

: , November 29, 2022 / 08:22 PM IST

National level coaching started in Raipur for IIT and Medical
रायपुर। आईआईटी और मेडिकल जैसी तकनीकी संस्थानों में प्रवेश की प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए अब राज्य के छात्र-छात्राओं को प्रदेश के बाहर जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। राजधानी रायपुर में ही राष्ट्रीय स्तर की कोचिंग की सुविधा हो गई है।

पढ़ें- कोविशील्ड की दो खुराकों के बीच 84 दिन का अंतर क्यों.. हाईकोर्ट ने पूछे सवाल

स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने जिन-एडू संस्थान द्वारा संचालित आईआईटी-मेडिकल जोन (कोचिंग सेंटर) का आज यहां सिविल लाइन में शुभारंभ किया। शुभारंभ अवसर पर महापौर रायपुर एजाज ढेबर, रेरा के अध्यक्ष विवेक ढांड, कोचिंग सेंटर के संचालक प्रशांत शर्मा, गगन वोरा, प्रमोद सिंह राणा, हिमांशु शर्मा सहित विद्यार्थी भी उपस्थित थे।

पढ़ें- शिवसेना सांसद ने पीएम मोदी को लिखा पत्र, राणे को मंत्रिमंडल से बर्खास्त करने की मांग की 

स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. टेकाम ने रायपुर में राष्ट्रीय स्तर की कोचिंग शुरू होने पर सभी को बधाई और शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में पहली बार आईआईटी-मेडिकल जोन द्वारा विद्यार्थियों को प्रतियोगी परीक्षा की तैयारियों के लिए डिजिटल क्लासरूम के माध्यम से कम खर्च पर कोचिंग उपलब्ध होगी।

पढ़ें- कोरोना काल में मसीहा बने सोनू सूद से फैन ने ट्वीट कर मांगे 1 करोड़, एक्टर ने दिया ऐसा.. जवाब.. आप भी देखें

उन्होंने कहा कि मेडिकल और इंजीनियरिंग इंट्रेन्स एक्जाम की कोचिंग देने वाले देश के एक्सपर्ट टीचर बच्चों को कोचिंग देंगे। डॉ. टेकाम ने कहा कि हर माता-पिता का सपना होता है कि उनका बच्चा बेहतर शिक्षा ग्रहण करें।

पढ़ें- छत्तीसगढ़ में नहीं होगा नेतृत्व परिवर्तन, राहुल गांधी के साथ 3 घंटे चली बैठक.. ‘ढाई-ढाई साल के मुद्दे पर नहीं हुई बात’

सीएम ने उम्मीद जताई कि रायपुर में इस कोचिंग संस्थान के शुरू होने से छत्तीसगढ़ से आईआईटी-मेडिकल में प्रवेश के लिए सफल होने वाले विद्यार्थियों की संख्या में इजाफा होगा।