मिशन ​शक्ति: जब अवसर मिलता तो परिणाम देने में कोई कमी नहीं करती महिलाएं : वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण

'Mission Shakti' in Uttar pradesh : जब अवसर मिलता तो परिणाम देने में कोई कमी नहीं करती महिलाएं : निर्मला सीतारमण

: , August 21, 2021 / 03:08 PM IST

लखनऊ। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने उत्तर प्रदेश में महिलाओं एवं बालिकाओं की सुरक्षा, सम्मान एवं स्वावलम्बन के लिए राज्य सरकार द्वारा संचालित ‘मिशन शक्ति’ के तीसरे चरण का रक्षाबंधन के एक दिन पूर्व शनिवार को शुभारम्भ किया। ‘मिशन शक्ति’ के तीसरे चरण का यह अभियान 31, दिसंबर 2021 तक चलेगा।

Read More News: भाजपाई घोड़ा! सिंधिया के आशीर्वाद यात्रा के दौरान भाजपा के रंग में रंगा घोड़ा, दर्ज हुआ मामला

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित ‘मिशन शक्ति’ के तीसरे चरण के समारोह को मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित करते हुए सीतारमण ने अभियान की सराहना की। उन्‍होंने कहा कि ”जब प्रोत्साहन मिलता है, अवसर मिलता है तो महिला उसमें शामिल होने में कोई संकोच नहीं करती, शामिल होने के बाद परिणाम देने में भी कोई कमी नहीं करती है, यही महिला की विशेषता है।”

Read More News: 54 दिन बाद जिंदगी से जंग हार गई ‘शशि जाटव’, पति, सास, ननद और जेठ-जेठानी ने पिलाया था तेजाब

मुख्‍यमंत्री योगी के प्रयासों की सराहना करते हुए वित्तमंत्री ने कहा, ”ऐसे ऊर्जावान मुख्यमंत्री के रहने से ही राज्य प्रगति के पथ पर आगे बढ़ सकता है। मुझे भरोसा है कि उत्तर प्रदेश तेजी से प्रगति के पथ पर आगे बढ़ेगा और उसमें महिलाओं की भी महत्वपूर्ण भूमिका दिखेगी।”

Read More News: ‘निर्माण कार्य के सत्यापन के लिए SDO मांगते हैं 20 प्रतिशत कमीशन’ कमीशनखोरी से परेशान पंचायत सचिवों ने मंत्री प्रेमसाय सिंह टेकाम से की शिकायत

उन्‍होंने कहा,” उत्तर प्रदेश में ऐसे मुख्यमंत्री के रहते हुए महिलाओं का भविष्य बहुत उज्ज्वल है। उत्तर प्रदेश में बेहतर कानून-व्यवस्था बनाने के लिए और महिला को सुरक्षित रखने के लिए तथा संपूर्ण विकास के लिए मुख्यमंत्री लगातार प्रयास कर रहे हैं, उन्हें मैं हार्दिक बधाई देती हूं।”

वित्तमंत्री ने कहा कि जहां हर गांव में बैंक पहुंचना संभव नहीं है लेकिन उत्तर प्रदेश अकेला ऐसा राज्य है जहां महिला को बैंक मित्र बनाकर, हर गांव में तैनात कर उत्तर के मुख्यमंत्री ने एक महत्वपूर्ण विचार को आगे बढ़ाया है।

Read More News: ओलंपिक तक पहुंचने के लिए पहली भारतीय महिला फेंसिंग खिलाड़ी को गिरवी रखने पड़े थे जेवर, देखिए IBC24 से खास बातचीत

निर्मला सीतारमण ने कहा,”मैं सभी महिला स्वयं सहायता समूहों से अनुरोध करती हूं कि आपके गांव में जो भी पैदावार है, उसके स्‍टोरेज (भंडारण) के लिए केंद्र सरकार पैसे देती है, अपने गांवों में ऐसे स्‍टोरेज क्षमता बना लो जिसमें उत्पादन को स्‍टोर करो और जब ज्यादा मुनाफा मिले तब उसे बेचो। इससे आपके हाथों में एक नया कारोबार आएगा और लाभ कमा सकती हो।’