Economic condition of pakistan: गधे और कुत्तों के सहारे पाकिस्तान

Economic condition of pakistan: गधे और कुत्तों के सहारे पाकिस्तान! आर्थिक स्थिति को लेकर बना हुआ है चर्चा का विषय

Economic condition of pakistan: गधे और कुत्तों के सहारे पाकिस्तान! आर्थिक स्थिति को लेकर बना हुआ है चर्चा का विषय

Edited By: , November 29, 2022 / 09:01 PM IST

Economic condition of pakistan: इस्लामाबाद। इन दिनों पड़ोसी राज्य पाकिस्तान की आर्थिक स्थिति बहुत खराब है। अपनी स्थिति को सुधारने के लिए पाक हर संभव प्रयास कर रहा है। लेकिन पाकिस्तन ने अब ऐसा कारनामा किया है जो चर्चा का विषय बना हुआ है। बता दें कि पाकिस्तान अपने पड़ोसी देश चीन को कुत्ते और गधे बेचकर अपनी आर्थिक स्थिति सुधारने की कोशिश में जुट गया है। पाकिस्तान के वाणिज्य मंत्रालय ने एक संसदीय समिति को बताया है कि चीन ने पाकिस्तान से गधों और कुत्तों को आयात करने में रुचि दिखाई है। अधिकारियों ने संसदीय समिति को बताया है कि पाकिस्तान एक बड़े आर्थिक संकट से उबरने की कोशिश कर रहा है।

ये भी पढ़ें- CBSE Board exam update: CBSE के छात्रों के लिए बड़ी खबर, डेटशीट को लेकर आया ये अपडेट, शुरू कर दें तैयारी

पाकिस्तान से कुत्ते भी खरीदना चाहता है चीन

Economic condition of pakistan:  एक रिपोर्ट के मुताबिक, सोमवार को वाणिज्य मंत्रालय और सीनेट की स्थायी समिति के अधिकारियों के बीच एक बैठक के दौरान एक सदस्य ने कहा कि चीन ने पाकिस्तान से गधों के साथ-साथ कुत्तों को भी आयात करने में रुचि जताई है। वहीं, सीनेटर ने समिति को यह भी बताया कि चीनी राजदूत ने भी कई बार पाकिस्तान से मांस निर्यात करने की बात कर चुके हैं।

ये भी पढ़ें- Gang rape with girl child: गांव में निर्वस्त्र भागती दिखी नाबालिग, हुआ कुछ ऐसा जिसे जानकर कांप उठेगी आपकी रूह

अफगानिस्तान में सस्ते मिलते हैं जानवर

Economic condition of pakistan: बैठक के दौरान समिति के सदस्यों में से एक ने अफगानिस्तान से जानवरों को आयात कर उन्हें चीन निर्यात करने का भी सुझाव दिया। इसके पीछे यह दलील दी गई कि चूंकि अफगानिस्तान में जानवर पाकिस्तान की तुलना में सस्ते मिल जाते हैं, इसलिए पाकिस्तान वहां से गघे खरीदकर उनका मांस चीन को बेच सकता सकता है। हालांकि, वाणिज्य मंत्रालय के अधिकारियों द्वारा समिति को सूचित किया गया कि अफगानिस्तान से जानवरों के आयात पर अस्थायी रूप से प्रतिबंध लगा दिया गया है क्योंकि पड़ोसी देश में जानवरों में लंपी वायरस की समस्या हो गई है।

ये भी पढ़ें- अब इस वायरस का शिकार हो रहे मासूम, बड़ी संख्या में बच्चे अस्पतालों में भर्ती

चीन में गदहों की खूब रहती है मांग

Economic condition of pakistan: बता दें कि गधों की चीन की बेहद मांग रहती है। चीनी वैद्य पारंपरिक दवा ‘ईजाओ’ के निर्माण में गधे की खाल का उपयोग करते हैं। ऐसा दावा किया जाता है कि इस दवा में औषधीय गुण होते हैं जिससे रक्त को पोषण मिलता है और प्रतिरक्षा प्रणाली तंत्र मजबूत होता है। पाकिस्तान में दुनिया के तीसरी सबसे अधिक गधो की आबादी है। पाकिस्तान में 57 लाख गधे हैं। इससे पहले भी पाकिस्तान चीन को अपने गदहे निर्यात कर चुका है।

ये भी पढ़ें- why eat paan on dussehra: विजयादशमी के दिन क्यों खाया जाता है पान? साथ ही भगवान को पान का बीड़ा चढ़ाने के बाद ये बोलने से हर मनोकामना होती है पूरी…

अफ्रीकी देशों ने चीन को गदहे बेचने से किया इंकार

Economic condition of pakistan: गौरतलब है कि बीते साल पाकिस्तान में पंजाब सरकार ने गधों को निर्यात कर विदेशी मुद्रा हासिल करने के उद्देश्य से ओकारा जिले में एक फार्म स्थापित किया था। यह फार्म 3000 एकड़ में स्थापित किया गया। यह फार्म प्रांत की पहली सरकारी स्वामित्व वाली फार्म है जहां अमेरिकी समेत सभी बढ़िया नस्लों के गधों को चीन और अन्य देशों में निर्यात के लिए पाला जाता है। इससे पहले चीन नाइजीरिया और बुर्किना फासो से गधों का आयात करता था। लेकिन इन दोनों अफ्रीकी देशों चीन को गधे निर्यात करने पर प्रतिबंध लगा दिया।

IBC24 की अन्य बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें