gujarat assembly 2022 hemant biswa statement

Gujarat Assembly 2022 : एक से अधिक शादी नहीं कर पाएंगे मुस्लिम, गरज कर बोले इस राज्य के मुख्यमंत्री

gujarat assembly 2022 hemant biswa statement : भाजपा के फायरब्रांड नेता हिमंत बिस्वा सरमा ने एक तरफ जहां श्रद्धा मर्डर केस का मामला उठाया है

Edited By: , November 29, 2022 / 08:21 PM IST

नई दिल्ली। gujarat assembly 2022 hemant biswa statement :  गुजरात में पहले चरण की वोटिंग के लिए अब एक हफ्ते का समय बचा है। एक दिसंबर को वोटिंग होगी। दूसरे चरण का मतदान पांच दिसंबर को होना है और आठ दिसंबर को मालूम चलेगा कि क्या गुजरात की सत्ता पर भाजपा का कब्जा बरकरार रहेगा या फिर कांग्रेस और आम में से कोई एक बाजी मार लेगा। कांग्रेस—भाजपा और आप अपनी पूरी ताकत के साथ चुना प्रचार में लगी हुई है। पार्टियां गुजरात की जनता को अपनी ओर आकर्षित करने में कोई भी कसर नहीं छोड रही है। पार्टियां अपने स्तर पर चुनावी वादे जनता के समक्ष रहीं हैं। लेकिन देखना यह होगा कि जनता किस पर भरोसा जताती है।

read more : विधायक ने पकड़ा अधिकारी का कॉलर, बोले- ‘मेरे आने से पहले क्यों किया स्कूल का उद्घाटन’

भाजपा के फायरब्रांड नेता हिमंत बिस्वा सरमा की एंट्री

gujarat assembly 2022 hemant biswa statement : गुजरात की चुनाव हवा में एक रौचक मामला जुड चुका है। श्रद्धा वॉकर का मर्डर केस। वहीं इस केस में गुजरात भाजपा की ओर से असम के सीएम हेमंत बिस्वा सरमा की एंट्री भी हो चुकी है। मुंबई की लड़की श्रद्धा वॉकर की दिल्ली में उसके प्रेमी आफताब द्वारा की गई बेरहमी से हत्या के मामले की गूंज गुजरात चुनाव में सुनाई दे रही है। असम के मुख्यमंत्री और भाजपा के फायरब्रांड नेता हिमंत बिस्वा सरमा ने एक तरफ जहां श्रद्धा मर्डर केस का मामला उठाया है तो दूसरी तरफ उन्होंने यूनिफार्म सिविल कोड यानी समान नागरिक संहिता का मुद्दा उठाया है। गुजरात में चुनावी प्रचार की जिम्मेदारी संभालने वाले सरमा ने एक रैली को संबोधित करते हुए कहा कि अगर हिंदू एक शादी करता है, तो दूसरे धर्मों के लोगों को भी एक ही शादी करनी पड़ेगी।

 

read more : नए अवतार में लॉन्च हुई Tata की सबसे सस्ती इलेक्ट्रिक सेडान कार! सिंगल चार्ज में पहुंचाएगी राजधानी से चंडीगढ़, कीमत बस इतनी 

gujarat assembly 2022 hemant biswa statement : गुजरात की 182 विधानसभा सीटों पर वोटिंग से पहले बीजेपी ने प्रचार के लिए अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। इसी कड़ी में असम के मुख्यमंत्री ने धनसूरा में जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि एक व्यक्ति देश में 2-3 शादी कर लेता है, आप क्यों करेंगे इतनी शादी। देश में अगर हिंदू 1 शादी करता है तो बाकि धर्म के लोगों को भी 1 ही शादी करनी पड़ेगी। इसलिए मैं आज ये बोलता हूं कि देश को समान नागरिक संहिता कानून चाहिए।

read more : मंत्री कवासी लखमा को आदिवासियों ने प्रचार से रोका, आरक्षण के मामले को लेकर जताया विरोध

उन्होंने आगे कहा कि महिलाओं का सम्मान होना चाहिए। घर में अगर 1 बेटा और 1 बेटी है तो दोनों को एक समान अधिकार मिलना चाहिए।देश में समान नागरिक संहिता चाहिए और ये केवल भाजपा ला सकती है, कांग्रेस नहीं।आपको बता दें कि बीजेपी ने उत्तराखंड की तरह हिमाचल प्रदेश और गुजरात में पार्टी के घोषणापत्र में समान नागरिक संहिता को लागू करने की बात कही है।

 

और भी लेटेस्ट और बड़ी खबरों के लिए यहां पर क्लिक करें