up police firozabad constable manoj kumar viral video

Viral Video: मेस का खाना थाली में लेकर फूट-फूटकर रोया पुलिस कॉन्स्टेबल, कहा- जानवर भी नहीं खाएंगे ऐसा घटिया खाना, शिकायत करने पर देते हैं ऐसी धमकी

firozabad Police constable manoj kumar viral video: उत्तर प्रदेश में कानून का राज है। अपराधियों पर कानून का लगाम है।

Edited By: , August 12, 2022 / 02:10 AM IST

फिरोजाबाद। firozabad Police constable manoj kumar viral video: उत्तर प्रदेश में कानून का राज है। अपराधियों पर कानून का लगाम है। ये तो आपने खूब सुना होगा। लेकिन क्या आप ये जानते हैं कि प्रदेश में कानून का राज स्थापित करने और गुंडों पर लगाम लगाने वाले पुलिस के जवान कितने सेफ हैं। उन्हें क्या-क्या सुविधाएं मिल रही हैं। उनकी लाइफ स्टाइल कैसी है। ये खबर पढ़कर आप जान जाएंगे। दरअसल, यूपी के फिरोजाबाद जिले के पुलिस मेस में खाने की गुणवत्ता को लेकर एक कॉन्स्टेबल मनोज कुमार का वीडियो वायरल हो रहा है।

इसमें जवान खाने की गुणवत्ता को लेकर अपने ही विभाग यानी पुलिस प्रशासन पर सवाल दाग रहा है। गंभीर आरोप लगा रहा है। रो-रोकर वह कह रहा है कि शिकायत करने पर उसे बर्खास्त किए जाने की धमकी दी जा रही है। अलीगढ़ निवासी मनोज इस वक्त फिरोजाबाद कोर्ट में ड्यूटी पर तैनात है। उसके वायरल वीडियो और मीडिया से बातचीत ने नया विवाद खड़ा कर दिया है। अब सवाल उठ रहा है कि क्या उसे बर्खास्त कर दिया जाएगा।

read more :जो बच्चे थे कोरोना वायरस से पीड़ित, उनमें लंबे समय तक मिल रहे हैरानी करने वाले ये लक्षण 

फिरोजाबाद पुलिस ने ट्वीट कर कहा कि शिकायकर्ता मनोज कुमार को अनुशासनहीनता, गैरहाजिरी और लापरवाही को लेकर पिछले कुछ वर्षों में कई बार दंडित किया जा चुका है। इस मामले में पुलिस के आंतरिक नियम कहते हैं कि कोई भी आदमी ऐसे मामले को मीडिया के बीच जाकर डिस्कस नहीं कर सकता है। सरकार की किसी नीति या नियम की आलोचना करना मिसकंडक्ट की श्रेणी में आता है। आप ऐसा नहीं कर सकते हैं। पूर्व आईपीसी पीयूष श्रीवास्तव कहते हैं कि हो सकता है उस सिपाही की शिकायत सही हो, लेकिन जिस तरह से उसने अपनी शिकायत को सामने रखा है, उसका तरीका सही नहीं है। यह विभाग की छवि को धूमिल करता है और यह मिसकंडक्ट की श्रेणी में आएगा और इसकी वजह से उसके खिलाफ कार्रवाई हो सकती है। ऐसे कोई भी अगर अपने आरआई से नाराज होगा, तो वो कहेगा कि खाना खराब है। ऐसी बातों को विभाग में कोई बढ़ावा नहीं देता है। आपका कोई एक्शन जो पुलिस की छवि को धूमिल करता है, तो वह मिसकंडक्ट माना जाएगा।

read more :  ड्यूटी से नहीं लौटने पर परिजन कर रहे थे तलाश, आज इस हालात में मिली लाश, मौत की वजह जानकर रह जाएंगे हैरान 

अगर आप यूनिफॉर्म सर्विस में हैं तो आपको अपने डीएसपी, एसपी से जाकर संबंधित की शिकायत करनी चाहिए। इसके बाद डीआईजी और आईजी बैठे हैं। वहां जाकर शिकायत की जा सकती है। लेकिन अगर आप इस तरह से कर रहे हैं, तो यह मिसकंडक्ट बनता है। यह अनुशासनात्मक कार्रवाई का मामला बन जाता है।

read more : पाकिस्तान के हिंदू मंदिर में कर रहे थे ये गंदा काम, पुलिस ने चार को दबोचा 

और भी लेटेस्ट और बड़ी खबरों के लिए यहां पर क्लिक करें