Mustard oil-oilseed prices improve; Softening of peanuts, palmolein

Edible Oil Price : तेल के दामों में आई गिरावट, घटकर इतनी हुई कीमत, देखें आज का भाव

Edible Oil Price today : कीमतों में सुधार देखा गया जबकि आने वाली नई फसल के चलते मूंगफली के भाव में नरमी का रुख रहा

Edited By: , September 23, 2022 / 06:52 PM IST

नयी दिल्ली। Edible Oil Price today :विदेशी बाजारों में नरमी के रुख के बीच दिल्ली तेल-तिलहन बाजार में शुक्रवार को मूंगफली, पामोलिन और सीपीओ की कीमतों में मामूली गिरावट का रुख रहा। दूसरी ओर किसानों द्वारा नीचे भाव में बिकवाली नहीं करने से सरसों तेल-तिलहन की कीमतों में सुधार देखा गया जबकि आने वाली नई फसल के चलते मूंगफली के भाव में नरमी का रुख रहा।

यह भी पढ़ें: सचिन पायलट की बढ़ सकती है मुश्किलें! जानें सीएम गहलोत ने सोनिया गांधी से किसके नाम को लेकर की सिफारिश

बाजार सूत्रों के मुताबिक, पंजाब और हरियाणा में बरसात होने से कपास की आवक में देरी होने के कारण बिनौला तेल की मांग बढ़ने से इसकी कीमतों में सुधार आया। इसके अलावा बाकी तेल-तिलहनों के भाव पूर्वस्तर पर बने रहे।

मलेशिया एक्सचेंज में 2.50 प्रतिशत की गिरावट देखी गई जबकि शिकॉगो एक्सचेंज भी कल रात दो प्रतिशत यानी 25 डॉलर के करीब भारी गिरावट के साथ टूटा और इसमें दो प्रतिशत की गिरावट चल रही है।

यह भी पढ़ें: EWS आरक्षण पर सुप्रीम कोर्ट ने कह दी बड़ी बात, गरीबी स्थायी चीज नहीं…आरक्षण की जगह किए जा सकते थे ये उपाय

Edible Oil Price today : विदेशी बाजारों में भाव टूटने के बावजूद स्थानीय बाजार में कम आपूर्ति के कारण आयातित तेलों जैसे…सोयाबीन, सीपीओ, पामोलिन और सूरजमुखी की कीमतों पर ज्यादा असर देखने को नहीं मिला। वहीं शुल्कमुक्त आयात होने के बावजूद खुदरा बाजार में उपभोक्ताओं को सोयाबीन रिफाइंड और सूरजमुखी तेल के लिए ऊंची कीमत अदा करनी पड़ रही है।

यह भी पढ़ें: चिकित्सा शिक्षा मंत्री ने दी जनता को बड़ी सौगात, प्रदेश में जल्द शुरू होगा IVF सेंटर

सूत्रों ने कहा कि सरकार को खाद्य तेलों की आपूर्ति श्रृंखला को बनाये रखने के लिए सोयाबीन डीगम और सूरजमुखी तेल के आयात की सीमा को पूरी तरह खत्म कर देना चाहिये या पहले की तरह पांच प्रतिशत का आयात शुल्क लगा देना चाहिये। इसके अलावा सरकार को तिलहन उत्पादन बढ़ाने पर भी ध्यान देने की आवश्यकता है।

 

शुक्रवार को तेल-तिलहनों के भाव इस प्रकार रहे:

सरसों तिलहन – 6,850-6,855 (42 प्रतिशत कंडीशन का भाव) रुपये प्रति क्विंटल।

मूंगफली -7,070-7135 रुपये प्रति क्विंटल।

मूंगफली तेल मिल डिलिवरी (गुजरात) – 16,400 रुपये प्रति क्विंटल।

मूंगफली सॉल्वेंट रिफाइंड तेल 2,695 – 2,885 रुपये प्रति टिन।

सरसों तेल दादरी- 13,750 रुपये प्रति क्विंटल।

सरसों पक्की घानी- 2,140-2,270 रुपये प्रति टिन।

सरसों कच्ची घानी- 2,210-2,325 रुपये प्रति टिन।

तिल तेल मिल डिलिवरी – 18,000-19,500 रुपये प्रति क्विंटल।

सोयाबीन तेल मिल डिलिवरी दिल्ली- 12,450 रुपये प्रति क्विंटल।

सोयाबीन मिल डिलिवरी इंदौर- 12,250 रुपये प्रति क्विंटल।

सोयाबीन तेल डीगम, कांडला- 10,900 रुपये प्रति क्विंटल।

सीपीओ एक्स-कांडला- 8,450 रुपये प्रति क्विंटल।

बिनौला मिल डिलिवरी (हरियाणा)- 12,400 रुपये प्रति क्विंटल।

पामोलिन आरबीडी, दिल्ली- 10,099 रुपये प्रति क्विंटल।

पामोलिन एक्स- कांडला- 9,150 रुपये (बिना जीएसटी के) प्रति क्विंटल।

सोयाबीन दाना – 5,250-5,350 रुपये प्रति क्विंटल।

सोयाबीन लूज 5,225- 5,325 रुपये प्रति क्विंटल।

मक्का खल (सरिस्का) 4,010 रुपये प्रति क्विंटल।

और भी है बड़ी खबरें…