भाजपा को एमसीडी चुनाव में हार स्वीकार कर लेनी चाहिए, मेयर चुनाव सुगमता से हों: सिसोदिया |

भाजपा को एमसीडी चुनाव में हार स्वीकार कर लेनी चाहिए, मेयर चुनाव सुगमता से हों: सिसोदिया

भाजपा को एमसीडी चुनाव में हार स्वीकार कर लेनी चाहिए, मेयर चुनाव सुगमता से हों: सिसोदिया

: , January 24, 2023 / 08:11 PM IST

नयी दिल्ली, 24 जनवरी (भाषा) दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने मंगलवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) से कहा कि दिल्ली नगर निगम चुनाव में वह अपनी हार स्वीकार करे और मेयर के चुनाव सुगमता से संपन्न कराने में मदद करे।

दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) के सदन की कार्यवाही मंगलवार को कुछ पार्षदों के हंगामे के बीच महापौर और उप महापौर के चुनाव के बिना स्थगित कर दी गयी।

आप के वरिष्ठ नेता सिसोदिया ने भाजपा पर मेयर चुनाव से ‘भागने’ का भी आरोप लगाया।

सिसोदिया ने कहा, ‘‘सभी ने भाजपा की नौटंकी देखी। जनता एमसीडी में उनके शासन से तंग आ चुकी थी। उन्होंने दिल्ली को कचरे के पहाड़ दिये और पूरी राजधानी को तबाह कर दिया।’’

उन्होंने कहा, ‘‘पहले उन्होंने एमसीडी चुनाव से बचने की कोशिश की और जब जनता ने उन्हें बाहर का रास्ता दिखा दिया, तो वे मेयर के चुनाव से भाग रहे हैं।’’

सिसोदिया ने कहा कि भाजपा ‘भागती जनता पार्टी’ बन गयी है। उन्होंने कहा कि यदि वह लोकतंत्र और संविधान में भरोसा रखती है, तो उसे एमसीडी चुनाव में अपनी हार स्वीकार कर लेनी चाहिए और मेयर का चुनाव सुगमता से कराने में मदद करनी चाहिए।

उन्होंने कहा, ‘‘हम मांग करते हैं कि एमसीडी के सदन की बैठक फिर से बुलाई जाए और आज ही मेयर के चुनाव कराये जाएं।’’

उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा एमसीडी को असंवैधानिक तरीके से अपने नियंत्रण में रखने के लिए लोकतंत्र का ‘गला घोंट’ रही है।

आप के वरिष्ठ नेता संजय सिंह ने कहा, ‘‘भाजपा मेयर का चुनाव हार रही थी, इसलिए उन्होंने सदन की कार्यवाही स्थगित करा दी। उप राज्यपाल को आज ही चुनाव के समय के बारे में फैसला करना चाहिए।’’

आम आदमी पार्टी को 151 पार्षदों, विधायकों और सांसदों का समर्थन प्राप्त है, वहीं भाजपा के पास केवल 111 पार्षदों और सांसदों का समर्थन है।

सिसोदिया ने कहा कि भाजपा ने यह खतरनाक प्रवृत्ति शुरू कर दी है कि जब वे चुनाव नहीं जीतते, तो वे विजयी दल को सरकार नहीं बनाने देते।

उन्होंने यह आरोप भी लगाया कि भाजपा के पार्षदों ने केंद्रीय मंत्री मीनाक्षी लेखी और पूर्व स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन की मौजूदगी में आप की महिला पार्षदों के साथ दुर्व्यवहार किया।

भाषा वैभव दिलीप

दिलीप

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)