flood in 26 district of asam, two died, rescue underway

Weather Alert : 26 जिलों में भारी बारिश ने मचाई तबाही.. दो की मौत, 500 से ज्यादा लोगों का किया रेस्क्यू

flood in 26 district of asam, two died, rescue underway : 26 जिलों में भारी बारिश ने मचाई तबाही, दो की मौत, 500 से ज्यादा का किया रेस्क्यू...

Edited By: , May 18, 2022 / 07:17 AM IST

Asam Flood : नई दिल्ली। असम में बाढ़ से हालात बिगड़ते जा रहे है। प्रदेश के 26 जिले लगातार बारिश होने के कारण बाढ़ की चपेट में आ गए हैं। इन 26 जिलों के चार लाख से ज्यादा लोग बाढ़ से प्रभावित हैं। असम के कछार जिले की स्थिति इतनी ज्यादा बिगड़ गई है कि वहां भारतीय सेना को बचाव कार्यों के लिए बुलाया गया है। असम की स्थिति को देखते हुए केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह में मंगलवार को असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा से स्थिति का जायजा लिया। इसके साथ ही गृह मंत्री अमित शाह ने असम को सभी संभव मदद पहुंचाने का आश्वासन दिया।

दरअसल अमित शाह ने असम के हालात देखते हुए ट्वीट किया है कि “असम के कुछ हिस्सों में भारी बारिश के बाद बने हालात को लेकर चिंतित हूं. स्थिति का जायजा लेने के लिए मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा से बात की. एनडीआरएफ की टीमें पहले ही तैनात कर दी गई हैं. केंद्र सरकार से हर संभव मदद का आश्वासन दिया.”

Read More: फुटपाथ किनारे सो रही महिलाओं को तेज रफ्तार कार ने कुचला, दो की हालत गंभीर, मचा हड़कंप 

अबतक 500 लोगों का किया रेस्क्यू

Asam Flood : मिली जानकारी के अनुसार असम के कछार जिले में कछार जिले में हालात बिगड़ने पर भारतीय सेना को बचाव कार्यों के लिए बुलाया गया। इस दौरान सेना और असम राइफल्स की टीम ने मंगलवार को कछार जिले के अलग-अलग हिस्सों में बचाव कार्य शुरू कर दिया है। बताया जा रहा है कि कछार जिले के उपायुक्त की ओर से अनुरोध प्राप्त हुआ था, जिसके बाद तुरंत भारतीय सेना और असम राइफल्स की टीमों को बाढ़ में फंसे लोगों को बचाने के लिए भेजा गया। रेस्क्यू में महिलाओं, बुजुर्गों और छोटे बच्चों को प्राथमिकता दी गई। समय रहते की गई त्वरित कार्रवाई के परिणामस्वरूप लोगों की जान बच गई और एक बड़ी आपदा टल गई। अबतक असम राइफल्स की श्रीकोना बटालियन और सेना के जवानों ने 500 ग्रामीणों को बचाया जा चूका है।

दो की मौत, तीन लापता

Asam Flood : कछार जिले में लगातार बारिश से हालत इतने बिगड़ गए कि वहां दो लोगों की मौत हो गई। इसके साथ ही कछार जिले में दो बच्चों सहित तीन अन्य लापता हैं। इसे देखते हुए कछार के जिला प्रशासन ने 55 राहत शिविर और 12 वितरण केंद्र की स्थापना की है। जहां 32,959 बाढ़ प्रभावित लोग शरण ले रहे हैं। इसके अलावा जोरहाट जिले में ब्रह्मपुत्र नदी का जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर बह रहा है। इतना ही नहीं असम के न्यू कुंजंग, फियांगपुई, मौलहोई, नामजुरंग, दक्षिण बगेतार, महादेव टीला, कालीबाड़ी, उत्तरी बगेतार, सिय्योन और लोदी पंगमौल गांवों में भूस्खलन की सूचना मिली हैं। इस कारण जतिंगा-हरंगाजाओ और माहूर-फिडिंग में रेलवे लाइन अवरुद्ध हो गई है।

Read More: महिला पर हाथ उठाने वाले पुरुष का तोड़ दूंगी हाथ, इस मामले में सांसद सुप्रिया सुले ने कही ये बात 

 

#HarGharTiranga