इस जनजाति के लोग शादी में पीते हैं सुअर का खून, जानें क्या है अजीबोगरीब परंपरा?

इस जनजाति के लोग शादी में पीते हैं सुअर का खून, जानें क्या है अजीबोगरीब परंपरा?

दुनिया में अजीबो गरीब चीजों से भरी हुई है। यहां कई तरह के रीति-रिवाज और रस्में निभाई जाती हैं। भारत में भी कई ऐसी जनजातियां है ​जो शादी को लेकर अलग अलग तरह के रस्में निभाई जाती है।

Edited By: , June 25, 2022 / 10:30 PM IST

नईदिल्ली: दुनिया में अजीबो गरीब चीजों से भरी हुई है। यहां कई तरह के रीति-रिवाज और रस्में निभाई जाती हैं। भारत में भी कई ऐसी जनजातियां है ​जो शादी को लेकर अलग अलग तरह के रस्में निभाई जाती है। आज हम आपको एक ऐसी जनजाति के बारे में बताने जा रहे है जिसमें अजीबोगरीब परंपराए निभाई जाती है।

Read More: उमरान मलिक को लेकर ये क्या बोल गए दिलीप वेंगसरकर, इन खिलाड़ियों को लग सकती है मिर्ची… 

दरअसल, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में गोड़ जनजाति भी है। इस जनजाति में शादी को लेकर अलग तरह के रिवाज निभाए जाती है। इस जनजाति में शादी को उत्सव जैसा माहौल मनाया जाता है। जमकर नाच गाना तो करते है। लेकिन एक रिवाज बहुत ही अलग तरह की है। गोड़ जनजाति की शादी में सुअर का खून पीना पड़ता है। इस जनजाति में अगर किसी की शादी होती है तो दूल्हे को सुअर का खून पीना पड़ता है। वहीं गोड़ जनजाति में लव मैरिज की भी इजाजत होती है। लेकिन शादी करने से पहले लड़के को अपने होने वाले ससुर के खेतों में काम करना पड़ता है। उसके बाद ही उनकी बेटी से शादी कराया जाता है।

Read More: MP Panchayat Election 2022: छिटपुट घटनाओं के बीच पहले चरण की वोटिंग संपन्न, रात 8 बजे तक इतने फीसदी हुआ मतदान 

आपको बता दें कि गोड़ जनजाति बाकी जनजाति की तरह साधरण ही होती है। ये अपने भोजन पूर्ति के लिए अपने ही खेती पर निर्भर रहते है। इसके अलावा इस जन​जाति में शिकार करके अपना पेट भरते है। इनका रहना भी जंगलों में होता है और इनके घर घास फूस और मिट्टी के बने होते है।

 

#HarGharTiranga