Indigenous RT-PCR kit launched to test for monkeypox

अब मंकीपॉक्स की जांच में नहीं होगी देरी, लॉन्च की गई स्वदेशी RT-PCR किट

RT-PCR kit launched to test for monkeypox : कोरोना के बाद देश भर में मंकीपॉक्स का खतरा मंडरा रहा है। देश में मंकीपॉक्स के कई

Edited By: , August 20, 2022 / 12:18 PM IST

नई दिल्ली : RT-PCR kit launched to test for monkeypox : कोरोना के बाद देश भर में मंकीपॉक्स का खतरा मंडरा रहा है। देश में मंकीपॉक्स के कई मामले सामने आ चुके हैं। इसी बीच मंकीपॉक्स की जांच के लिए देश की पहली स्वदेशी RT-PCR किट को लॉन्च किया गया। आंध्र प्रदेश मेडटेक जोन (AMTZ) में सएशिया बायो-मेडिकल्स द्वारा विकसित किए गए इस स्वदेशी किट को केंद्र के प्रधान वैज्ञानिक सलाहकार अजय कुमार सूद ने लांच किया है।                          >>*IBC24 News Channel के WHATSAPP  ग्रुप से जुड़ने के लिए  यहां CLICK करें*<<

यह भी पढ़े : रोज सुबह खाली पेट करें इस जूस का सेवन, चेहरे पर नजर आएंगे चौंकाने वाले फायदे 

अत्यधिक संवेदनशी आरटी-पीसीआर किट

RT-PCR kit launched to test for monkeypox : ट्रांसएशिया-एर्बा मंकीपॉक्स आरटी-पीसीआर किट अत्यधिक संवेदनशील है। विशिष्ट रूप से तैयार किए गए प्राइमर से सटीकता के साथ मंकीपॉक्स का परीक्षण किया जा सकता है। सबसे बड़ी बात यह कि यह स्वदेशी किट जांच के साथ उपयोग में भी आसान है।

यह भी पढ़े : Weather Update Today : अगले 24 घंटे जमकर बरसेंगे बदरा, इन राज्यों में दिखेगा निम्न दबाव का असर, येलो अलर्ट जारी

अब जांच में नहीं होगी देरी

RT-PCR kit launched to test for monkeypox : AMTZ में ट्रांसएशिया के संस्थापक-अध्यक्ष सुरेश वज़ीरानी ने कहा कि किट से संक्रमण का जल्द पता लगाने और बेहतर प्रबंधन में मदद मिलेगी, जिसे डब्ल्यूएचओ ने अंतरराष्ट्रीय चिंता का सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकाल घोषित किया है। लॉन्च समारोह में वैज्ञानिक सचिव अरबिंद मित्रा, आईसीएमआर के पूर्व महानिदेशक बलराम भार्गव, जैव प्रौद्योगिकी विभाग में सलाहकार अलका शर्मा और अन्य मौजूद थे।

यह भी पढ़े : अपनी इन मांगो को लेकर मार्च निकालेंगे किसान, राकेश टिकैत ने कहा- ‘… बड़े आंदोलन के लिए तैयार’

देश में बढ़ रही संक्रमितों की संख्या

RT-PCR kit launched to test for monkeypox : देश में मंकीपॉक्स के मरीजों की संख्या बढ़ रही है। इसके चलते केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बीमारी से बचने के लिए क्या करें और क्या न करें की लिस्ट जारी की है। इसमें कहा गया है कि संक्रमित व्यक्ति के साथ देर तक संपर्क में रहने से या उसके साथ बार-बार संपर्क में आने से बीमारी लगने का खतरा होता है।

मंत्रालय ने संक्रमित व्यक्ति को दूसरों से अलग-थलग करने की सलाह दी है ताकि बीमारी न फैले। इसके साथ ही हैंड सैनिटाइटर का इस्तेमाल करने, साबुन और पानी से हाथ धोने, किसी मरीज के करीब होने पर मास्क और हाथों को डिस्पोजेबल दस्ताने से ढंकने और कीटाणुनाशक का उपयोग करने की सलाह दी गई है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार मंकीपॉक्स एक वायरल जूनोसिस (जानवरों से मनुष्यों में फैलने वाला वायरस) है। इसके लक्षण चेचक के रोगियों में देखे गए लक्षणों के समान हैं।

यह भी पढ़े : फूट-फूटकर रोईं राजू श्रीवास्तव की पत्नी, नम आंखों के साथ कही ये बात…. 

केरल में हुई मंकीपॉक्स से पहली मौत

RT-PCR kit launched to test for monkeypox : केरल में मंकीपॉक्स से एक युवक की मौत हो गई है। 22 वर्षीय युवक हाल ही में संयुक्त अरब अमीरात से वापस लौटा था। कुछ दिनों पहले ही उस युवक की मौत हो गई थी। युवक की मंकीपॉक्स के लिए रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। युवक की मौत के बाद राज्य में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया। मृतक के संपर्क में आए सभी लोगों को क्वारंटीन कर दिया गया। राज्य की स्वास्थ्य मंत्री वीना जार्ज ने हाईलेवल मीटिंग करके आवश्यक एसओपी का निर्देश देते हुए कहा कि मृतक युवा था। किसी अन्य बीमारी या स्वास्थ्य समस्याओं से पीड़ित नहीं था। इसलिए स्वास्थ्य विभाग उसकी मृत्यु के कारणों की जांच कर रहा।

IBC24 की अन्य बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें