Sanjay Raut got a new identity in jail, became prisoner number 8959

संजय राउत को जेल में मिली नई पहचान, बनें कैदी नंबर 8959, जेल प्रशासन से की थी इन चीजों की डिमांड

Sanjay Raut became prisoner number 8959 : शिवसेना सांसद संजय राउत आज कल अपने नए ठिकाने आर्थर रोड जेल में रातें काट रहे हैं।

Edited By: , August 13, 2022 / 05:59 PM IST

मुंबई : Sanjay Raut became prisoner number 8959 : शिवसेना सांसद संजय राउत आज कल अपने नए ठिकाने आर्थर रोड जेल में रातें काट रहे हैं। सुरक्षा कारणों के चलते जेल में उन्हें अलग बैरक में रखा गया है। उनका यह बैरक दस बाय दस का है। संजय राउत के बैरक के आस-पास सुरक्षा व्यवस्था को मजबूत रखा गया है। संजय राउत को जेल में नई पहचान मिली है। उन्हें जेल में कैदी नंबर 8959 मिला है।

यह भी पढ़े : सचिन तेंदुलकर के बेटी सारा ने रचाई अपने हाथों में मेहंदी, रस्में की तस्वीरें हो रही वायरल

संजय राउत ने की थी नोट बुक, पेन और किताबो की डिमांड

Sanjay Raut became prisoner number 8959 : संजय राउत ने जेल प्रशासन से नोट बुक और पेन की डिमांड की थी और इसकी मजूरी के बाद ये चीजें उन्हें सौंप दी गई है। साथ ही संजय राउत ने कई किताबों की भी डिमांड की थी जिसे उन्हें उपलब्ध कराया गया है। उनका पूरा दिन या तो कुछ लिखने में या तो किताबे पढ़ने में निकल रहा है।

यह भी पढ़े : राणा दग्गुबाती ने आखिर सोशल मीडिया से दूरी क्यों बनाई, उन्होने खुद बताई ये वजह… 

अदालत ने संजय राउत को भेजा 14 दिन की न्यायिक हिरासत में

Sanjay Raut became prisoner number 8959 : कथित धनशोधन मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ED) द्वारा गिरफ्तार किए गए शिवसेना सांसद संजय राउत को आठ दिन बाद बीते सोमवार को एक विशेष पीएमएलए अदालत ने 22 अगस्त तक यानी 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया। पीएमएलए कोर्ट के विशेष न्यायाधीश एम.जी. देशपांडे ने राउत को न्यायिक हिरासत में भेजने का फैसला तब दिया, जब ईडी ने सूचित किया कि उसे 1,034 करोड़ रुपये के घोटाले की जांच के लिए राउत की अतिरिक्त हिरासत की जरूरत नहीं है।

यह भी पढ़े : लाल सिंह चड्डा के ये एक्टर गर्लफ्रेंड के साथ कार में कर रहे थे ऐसा काम, रेलवे स्टेशन पर पुलिस ने पकड़ा, फिर…

ED 1 अगस्त को संजय राउत को किया था गिरफ्तार

Sanjay Raut became prisoner number 8959 : ED ने 31 जुलाई को भांडुप में संजय राउत के आवास पर छापा मारा था, जिसके बाद एजेंसी ने उन्हें हिरासत में ले लिया था। अगले ही दिन शिवसेना सांसद को गुरु आशीष कंस्ट्रक्शन द्वारा गोरेगांव के पात्रा चॉल के पुनर्विकास परियोजना से उत्पन्न कथित धन-शोधन मामले के संबंध में 1 अगस्त को तड़के गिरफ्तार किया गया था।

IBC24 की अन्य बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें