Veer Savarkar-Tipu Sultan Controversy created riots between two group of people

सावरकर vs टीपू सुल्तान विवाद: दो दलों के बीच हिंसक झड़प, शहर में लगाया गया कर्फ्यू, माहौल बेहद संवेदनशील

प्रशासन को 18 अगस्त तक के लिए शहर में कर्फ्यू (Curfew) लगाना पड़ गया। साथ ही शहर के सभी स्कूल और कॉलेजों को भी बंद रखने का आदेश जारी कर दिया गया है।

Edited By: , August 16, 2022 / 08:17 AM IST

Veer Savarkar-Tipu Sultan Controversy: देश की राजनीत में वीर सावरकर एक अहम किरदार हैं। सावरकर के नाम पर आए दिन राजनीतिक दलों में विवाद होते ही रहते हैं। भाजपा जहां सावरकर को अपना आदर्श मानती है तो वहीं कांग्रेस और कई विपक्षी दल उनको देशद्रोही बताती हैं। कल देश में स्वतंत्रता दिवस मनाया गया। ऐसे में देश में कहीं विवाद न हो ऐसा कैसे हो सकता है। कल कर्नाटक के शिमोगा में स्वतंत्रता दिवस पर सावरकर और टीपू सुल्तान के पोस्टर विवाद को लेकर दो गुटों में जमकर बवाल हुआ और हिंसक झड़प हो गई। बता दें कि झड़प में एक युवक पर चाकू से हमला कर दिया गया। जिसे जख्मी हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया। हालात इतने बेकाबू हो गए कि प्रशासन को 18 अगस्त तक के लिए शहर में कर्फ्यू (Curfew) लगाना पड़ गया। साथ ही शहर के सभी स्कूल और कॉलेजों को भी बंद रखने का आदेश जारी कर दिया गया है।

कैसे हुआ विवाद?

Veer Savarkar-Tipu Sultan Controversy: बता दें कि विवाद तब हुआ जब टीपू सुल्तान सेना जो कि एक मुस्लिम संगठन है, उसके कुछ लोगों द्वारा शहर के अमीर अहमद सर्किल में खंभे से सावरकर का पोस्टर उखाड़ फेंकने का वीडियो सामने आया। मामले की जानकारी मिलते ही स्थानीय पुलिस वहां पहुंची और लोगों को वहां से खदेड़ा और लाठियां बरसाईं। बताया जा रहा है कि हिंदुवादी संगठनों से जुड़े लोगों ने सावरकर का पोस्टर वहां लगाया था लेकिन कुछ देर बाद वहां टीपू सुलतान सेना का झंडा लेकर कुछ मुस्लिम युवक पहुंच गए और तस्वीर हटाने की कोशिश करने लगे। हिंदू और मुस्लिम युवकों के बीच इस बात को लेकर तीखी बहस हुई जो हिंसक झड़प में बदल गई। जिसमें एक युवक पर चाकू से हमला भी हो गया और कई लोग घायल भी हो गए।

18 अगस्त तक शहर में कर्फ्यू

Veer Savarkar-Tipu Sultan Controversy: पोस्टर उखाड़ने को लेकर हुई हिंसक झड़प में 26 वर्षीय प्रेम सिंह नाम के एक लड़के पर चाकू से वार कर दिया गया। पुलिस ने सख्ती से निपटते हुए हंगामा कर रहे कुछ लोगों को हिरासत में ले लिया। इसके बाद 18 अगस्त तक के लिए शिमोगा शहर में धारा 144 लागू कर दी गई ताकि बवाल पर काबू पाया जा सके। स्थानीय मीडिया के मुताबिक, मौके से सावरकर की तस्वीर हटाकर टीपू सुल्तान की फोटो लगा दी गई थी, जिसे लेकर विवाद हुआ। मौके पर भारी पुलिस फोर्स तैनात की गई। जानकारी के मुताबिक बवाल को देखते हुए कर्नाटक के गृह मंत्री अरागा ज्ञानेंद्र जल्द शिमोगा का दौरा करेंगे। फिलहाल शहर में भारी तनाव है और लोगों से शांति बरतने और घर पर ही रहने की अपील की गई है।

Read more: IBC24 की अन्य बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें