चंद्रशेखर राव ने महाराष्ट्र में बीआरएस के विस्तार के लिए महीने भर लंबा कार्यक्रम शुरू किया |

चंद्रशेखर राव ने महाराष्ट्र में बीआरएस के विस्तार के लिए महीने भर लंबा कार्यक्रम शुरू किया

चंद्रशेखर राव ने महाराष्ट्र में बीआरएस के विस्तार के लिए महीने भर लंबा कार्यक्रम शुरू किया

:   Modified Date:  May 19, 2023 / 07:35 PM IST, Published Date : May 19, 2023/7:35 pm IST

नांदेड़, 19 मई (भाषा) तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने शुक्रवार को महाराष्ट्र के 45,000 से अधिक गांवों में अपनी पार्टी भारत राष्ट्र समिति (बीआरएस) का विस्तार करने के लिए महीने भर के कार्यक्रम की शुरुआत की।

राव ने नांदेड़ में ‘पार्टी कार्यकर्ता प्रशिक्षण कार्यक्रम’ को संबोधित करते हुए यह घोषणा की। इस दौरान महाराष्ट्र की सभी 288 विधानसभा सीटों के बीआरएस कार्यकर्ता मौजूद रहे।

उन्होंने दावा किया कि 30 दिनों के इस अभियान के दौरान उनकी पार्टी के कार्यकर्ताओं द्वारा किए गए प्रयास महाराष्ट्र की राजनीति को बदल सकते हैं।

राव की महाराष्ट्र में पिछले चार महीने के भीतर यह चौथी रैली है, जिनमें से तीन नांदेड़ जिले में हुईं।

राव ने कहा, ‘‘हम महाराष्ट्र में 45,000 से अधिक गांवों और नगर निकायों के 5,000 वार्ड में जाएंगे।’’

उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से प्रत्येक स्थान पर नौ समितियां बनाने को कहा, जिनमें किसान, युवा, महिलाएं, पिछड़ा वर्ग, आदिवासी और अल्पसंख्यक शामिल हों।

राव ने बीआरएस कार्यकर्ताओं से कहा, ‘‘22 मई से 22 जून तक, एक दिन में पांच गांव जाएं। प्रत्येक गांव में दो घंटे बिताएं।’’

उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से दलितों और किसानों के साथ भोजन करने को भी कहा।

उन्होंने कहा, ‘‘भारत नए नेतृत्व की प्रतीक्षा कर रहा है। देश वर्तमान नेताओं से तंग आ चुका है। आज हम महाराष्ट्र पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं। कल आपको मध्य प्रदेश, गुजरात और छत्तीसगढ़ में काम करना होगा।’’

राव ने किसानों के कल्याण के लिए ‘तेलंगाना मॉडल’ की बात की।

बीआरएस नेता ने कहा, ‘‘मेरे मुख्यमंत्री बनने से पहले, तेलंगाना में किसान मर रहे थे। आज तेलंगाना मॉडल पूरे देश में मशहूर है। तेलंगाना के हर घर में नल के जरिये पानी उपलब्ध है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘हाल के कर्नाटक चुनावों में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) हार गई और कांग्रेस सत्ता में आई। लेकिन, वहां भी कुछ नहीं बदलेगा। चीन, जापान, दक्षिण कोरिया, सिंगापुर और मलेशिया जैसे देशों ने खुद को बदला और अपने पिछले अनुभवों के साथ आगे बढ़े। ये देश जो कभी हमसे पीछे थे, अब हमसे आगे निकल गए हैं।’’

उन्होंने तेलंगाना में पिछले नौ साल में किए गए विकास कार्यों का जिक्र करते हुए आरोप लगाया कि महाराष्ट्र के राजनीतिक दलों में इच्छाशक्ति की कमी है।

राव ने कहा, ‘‘सोलापुर शहर को 10 दिनों में एक बार, अकोला को सात दिनों में, औरंगाबाद को आठ दिनों में पानी मिलता है। अगर यहां के दलों में इच्छाशक्ति होती तो अब तक स्थिति बदल चुकी होती। यहां तक कि राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली को भी पर्याप्त पानी और बिजली नहीं मिलती है।’’

भाषा

शफीक सुरेश

सुरेश

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Flowers