Pradeep Mishra Ne Bataya Dhan Prapti Ka Upay

Dhan Prapti Ka Upay : क्या आप भी हैं आर्थिक तंगी से परेशान? आज ही करें प्रदीप मिश्रा का बताया हुआ ये उपाय, पैसों की होगी बारिश

Pradeep Mishra Ne Bataya Dhan Prapti Ka Upay: अगर आपके घर पैसा न आ रहा हो या कड़ी मेहनत के बाद भी कामयाबी न मिल रही हो तो ये आसान उपाए करें।

Edited By :   Modified Date:  January 30, 2024 / 06:36 PM IST, Published Date : January 30, 2024/6:34 pm IST

Pradeep Mishra Ne Bataya Dhan Prapti Ka Upay : मध्य प्रदेश के मशहूर कथा वाचक पंडित प्रदीप मिश्रा इन दिनों सुर्खियों में हैं। पंडित प्रदीप मिश्रा अपने धार्मिक कथाओं के साथ-साथ घरेलू दिक्कतें के उपाय देने के लिए भी मशहूर है। उनके कई भक्त कुबेरेश्वर धाम में अपने दिक्कतों का निवारण पाने के लिए आते है। हाल ही में प्रदीप मिश्रा का एक वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है जिसमें पंडित मिश्रा ने बताया कि अगर आपके घर पैसा न आ रहा हो या कड़ी मेहनत के बाद भी कामयाबी न मिल रही हो तो ये आसान उपाए करें।

read more : जम्मू-कश्मीर में 33 शैक्षणिक संस्थान और सड़कों का होगा नामकरण, प्रस्ताव को मंजूर कर किया आदेश जारी.. 

प्रदीप मिश्रा के इस उपाय से होगी धन की वर्षा

Pradeep Mishra Ne Bataya Dhan Prapti Ka Upay : वीडियो में पंडित मिश्रा कहते है कि मान लो घर में अगर लक्ष्मी नहीं आ रही किसी कारणवश, कड़ी मेहनत के बाद भई सफलता नहीं मिल रही हो लक्ष्मी घर में प्रवेश न कर रही हो तो ये उपाए करें। इसके लए वेल का फल का गुर्दा ले उसे घर पर सुखा लो फिर उसे जलाकर उसकी भष्म तैयार करों। भष्म तैयार करने के बाद उसे पीस लो फिर उसे कपड़े से छान लो। इसके बाद जब भी आप शिव मंदिर में पूजन करने जाएं तो इसे साथ लेकर जाएं।

 

आगे पंडित मिश्रा कहते है कि किसी भी 5 प्रदोष या 5 सोमवार, या सोमवार की अष्टमी पड़ जाए उस दिन घर से थोड़ी सी भष्म लेकर जाएं। उसमें से थोड़ी सी भष्म वेलपत्र केपेड़ के नीचे श्री कुंदकेश्वर महादेव का नाम लेकर चढ़ा दें। उसी में से थोड़ी सी भष्म जो आपने वृक्ष पर चढ़ाई हो उसी में से थोड़ी से लेकर आओ और वहीं भष्म माता पार्वती का नाम लेकर भगवान शंकर के उपर चढ़ा दो और अपनी मनोकामना करके एक लोटा जल शिव पर समर्पित कर दो, आपका काम सफल हो जाएगा।

 

आपके 5 प्रदोष भी पूरे नहीं होंगे और बाबा चाहेंगे तो जो लक्ष्मी आपके घर रुकी हुई है या व्यापार नहीं चल रहा है या कोई कार्य नहीं हो रहा तो बाबा उसे एक नहीं दो नहीं तो तीसरे में तो बाबा धक्का लगा ही देगा कैसे ही लगाएगा। शंकर भगवान को भष्म अतिप्रिय है। वेलपत्र माता पार्वती की प्रिय है। माता का जहां यज्ञ होता है वहां वेल के फल की भी आहूती लगती है। उस भष्म की बड़ी प्रवलता है उस वेल का जो गुर्दा होता है उसे जो भष्म तैयार होती है उसका बड़ा महत्व है।

 

देश दुनिया की बड़ी खबरों के लिए यहां करें क्लिक

Follow the IBC24 News channel on WhatsApp

 
Flowers