अय्यर और जडेजा ने भारत के नाम किया पहला दिन

अय्यर और जडेजा ने भारत के नाम किया पहला दिन

Edited By: , November 25, 2021 / 04:59 PM IST

कानपुर, 25 नवंबर (भाषा) श्रेयस अय्यर ने अपने पदार्पण मैच में ही छाप छोड़कर नाबाद अर्धशतकीय पारी खेली और रविंद्र जडेजा के साथ अटूट शतकीय साझेदारी निभायी जिससे भारत ने काइल जैमीसन के झटकों से उबरकर न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले टेस्ट क्रिकेट मैच के शुरुआती दिन गुरुवार को यहां चार विकेट पर 258 रन बनाये।

कुछ शीर्ष खिलाड़ियों की अनुपस्थिति में ‘टेस्ट कैप’ हासिल करने वाले अय्यर 75 रन बनाकर क्रीज पर डटे हुए हैं जिससे मुंबई टेस्ट मैच के लिये अंतिम एकादश का चयन करते हुए चयनकर्ताओं की सरदर्दी बढ़ना तय है क्योंकि तब नियमित कप्तान विराट कोहली वापसी करेंगे।

अय्यर ने अब तक 136 गेंदों का सामना करके सात चौके और दो छक्के लगाये हैं। उन्होंने जडेजा (100 गेंदों पर नाबाद 50 रन) के साथ पांचवें विकेट के लिये अब तक 113 रन जोड़े हैं। खराब रोशनी के कारण दिन का खेल छह ओवर पहले ही समाप्त घोषित कर दिया गया।

इन दोनों के अलावा सलामी बल्लेबाज शुभमन गिल (93 गेंदों पर 52 रन) की पारी आकर्षण का केंद्र रही। चेतेश्वर पुजारा (88 गेंदों पर 26 रन) और कप्तान अजिंक्य रहाणे (63 गेंदों पर 35 रन) अच्छी शुरुआत के बावजूद बड़ी पारी नहीं खेल पाये जबकि सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल (28 गेंदों पर 13 रन) मौके का फायदा उठाने में नाकाम रहे।

लंबे कद के तेज गेंदबाज जैमीसन (47 रन देकर तीन) ने फिर से भारतीय बल्लेबाजों को परेशानी में डाला। उन्होंने सुबह के सत्र में अग्रवाल को विकेटकीपर टॉम ब्लंडेल के हाथों कैच कराने के बाद गिल और रहाणे को बोल्ड किया। अनुभवी तेज गेंदबाज टिम साउदी (43 रन देकर एक) ने इस बीच पुजारा की एकाग्रता भंग की।

पिच धीमी थी और उस पर गेंद नीचे रह रही थी लेकिन उस पर अपेक्षित टर्न नहीं मिल रहा था जिससे न्यूजीलैंड के तीनों स्पिनरों अयाज पटेल (21 ओवर में 78 रन), विलियम सोमरविले (24 ओवर में 60 रन) और रचिन रविंद्र (सात ओवर में 28 रन) को जूझना पड़ा। गिल और अय्यर दोनों ने स्पिनरों के सामने खुलकर बल्लेबाजी की।

अय्यर शुरू में थोड़ा सा असहज दिखे लेकिन जल्द ही उन्होंने अपनी नैसर्गिक बल्लेबाजी शुरू कर दी तथा संयमित आक्रामकता के साथ रन बटोरे। उन्होंने रविंद्र के खिलाफ खूबसूरत कट और ड्राइव लगाकर 94 गेंदों पर अर्धशतक पूरा किया। इसके बाद पटेल और सोमरविले की बारी थी जिन पर उन्होंने लांग ऑन और मिडविकेट पर छक्के लगाये।

जडेजा के जैमीसन पर लगाये गये लगातार दो चौके दर्शनीय थे। उन्होंने 99 गेंदों पर अपना 17वां टेस्ट अर्धशतक पूरा करने के बाद चिर परिचित अंदाज में जश्न मनाया। जडेजा ने अपनी पारी में छह चौके लगाये हैं।

गिल ने अपने कट और ड्राइव का शानदार नमूना पेश करके पहले सत्र में न्यूजीलैंड के मुख्य स्पिनर पटेल को बैकफुट पर रखा था लेकिन उनके दूसरे सत्र के पहले ओवर में पवेलियन लौटने से भारतीय पारी का प्रवाह प्रभावित हुआ।

जैमीसन की फुललैंग्थ गेंद को रक्षात्मक रूप से खेलने के लिये गिल आगे बढ़े लेकिन गेंद उनके बल्ले और पैड के बीच से निकलकर विकेटों में समा गयी। जेम्स एंडरसन ने इस साल के शुरू में उन्हें इसी तरह से आउट किया था। गिल ने अपनी पारी में पांच चौके और पटेल पर छक्का लगाया।

पुजारा के पास शतक का लंबा इंतजार समाप्त करने का यह बेहतरीन मौका था। उन्होंने जैमीसन और पटेल पर चौका लगाकर अभी हाथ खोलने का प्रयास किया था कि साउदी की पांचवें स्टंप की लाइन पर की गयी गेंद उनके बल्ले को चूमती हुई ब्लंडेल के दस्तानों में समा गयी।

पुजारा ने अपना आखिरी टेस्ट शतक जनवरी 2019 में लगाया था। वह पिछले 23 टेस्ट और 39 पारियों से तिहरे अंक में नहीं पहुंचे हैं और इस बीच उनका औसत 28.78 रहा है।

यही आलम रहाणे का रहा जिनके करियर के लिये न्यूजीलैंड के खिलाफ दो टेस्ट मैच अहम साबित हो सकते हैं। एकबारगी लग रहा था कि ग्रीन पार्क की पिच उन्हें रास आ रही है और वह बड़ी पारी खेलकर दक्षिण अफ्रीका जाने वाली टीम में अपनी जगह सुरक्षित कर लेंगे लेकिन जैमीसन ने जल्द ही यह भ्रम तोड़ दिया।

रहाणे ने जैमीसन की बाहर जाती गेंद को बैकफुट पर जाकर कट करने के प्रयास में अपने विकेटों पर खेला। इससे ठीक पहली गेंद पर वह डीआरएस लेने के कारण आउट होने से बचे थे। उन्होंने अपनी पारी में छह चौके लगाये।

इससे पहले रहाणे ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया लेकिन भारत ने आठवें ओवर में ही अग्रवाल का विकेट गंवा दिया।

चोट के कारण इंग्लैंड के खिलाफ नहीं खेल पाने वाले गिल ने मैदान के चारों तक आकर्षक शॉट खेलकर अपने टेस्ट करियर का चौथा अर्धशतक पूरा किया उन्होंने साउदी के पहले स्पैल में सतर्कता बरतने के बाद अपने खूबसूरत कट और ड्राइव से बायें हाथ के स्पिनर पटेल की लेंथ बिगाड़ी। गिल और पुजारा ने दूसरे विकेट के लिये 61 रन जोड़े।

भाषा

पंत मोना

मोना