पंजाब सीएम के रिश्तेदार के ठिकानों पर रेड.. अब तक 8 करोड़ से ज्यादा कैश जब्त.. ED की कार्रवाई जारी

पंजाब सीएम के रिश्तेदार के ठिकानों पर रेड.. अब तक 8 करोड़ से ज्यादा कैश जब्त.. ED की कार्रवाई जारी

: , January 19, 2022 / 05:25 PM IST

Raid on the premises of relatives of Punjab CM : नई दिल्ली। पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के रिश्तेदार समेत अन्य के ठिकानों पर रेड की थी। पंजाब में ईडी की रेड बुधवार को भी जारी है। सूत्रों ने आज यह जानकारी दी। सूत्रों ने बताया कि चरनजीत सिंह चन्नी के रिश्तेदार भूपिंदर सिंह हनी के मोहाली के घर और दूसरे ठिकानों से 7.9 करोड़ रुपये बरामद हुए हैं। इस रेड में अब तक कुल 9.9 करोड़ रुपये बरामद हो चुके हैं।

पढ़ें- ओमिश्योर किट से होगी ओमिक्रॉन की पहचान, RTPCR मशीन में लगेगी किट.. टेस्टिंग जारी

पंजाब में अवैध रेत खनन और इससे जुड़ी कंपनियों के खिलाफ धनशोधन संबंधी जांच के तहत मंगलवार को कई जगहों पर ईडी ने छापमारी। रेड के कुछ घंटे बाद राज्य के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा कि चुनाव करीब है और ऐसे में उन पर दबाव बनाने तथा उन्हें और उनके मंत्रियों को निशाना बनाने की कोशिश हो रही है।

पढ़ें- सानिया ने किया संन्यास का एलान, बोलीं- यह मेरा आखिरी सत्र.. अब थकने लगा है शरीर

भूपिंदर सिंह उर्फ हनी नामक एक व्यक्ति के परिसरों पर भी प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के छापों के तहत कार्रवाई की गयी। हनी को मुख्यमंत्री चन्नी का रिश्तेदार बताया जाता है। हनी के तार कथित रूप से कुदरतदीप सिंह नाम के शख्स के साथ जुड़े होने के बारे में एजेंसी जांच कर रही है।

पढ़ें- OMG: तिहाड़ जेल में कैदी ने निगल लिया पूरा मोबाइल.. अचानक चेकिंग होने पर उठाया ये कदम.. अब अस्पताल में भर्ती

समाचार एजेंसी पीटीआई-भाषा के मुताबिक, चन्नी ने मंगलवार को संवाददाताओं से बातचीत में आरोप लगाया, ‘‘जब पश्चिम बंगाल में चुनाव थे तो ममता बनर्जी के रिश्तेदारों पर इस तरह से निशाना साधा गया। उसी तरह ईडी अब पंजाब में दबाव बनाने और परेशानी खड़ी करने की कोशिश कर रही है। हर तरह का दबाव बनाने का प्रयास किया जा रहा है।”

पढ़ें- अभिनेत्री राइमा का शव बोरे में मिला.. शूटिंग के लिए निकली थीं.. दो टुकड़ों में मिली बॉडी

उन्होंने भारतीय जनता पार्टी नीत केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, ‘‘केवल मंत्रियों और मुख्यमंत्री पर ही नहीं बल्कि हर कांग्रेस कार्यकर्ता पर दबाव बनाया जा रहा है। इस तरह का माहौल लोकतंत्र के लिए ठीक नहीं है। जब चुनाव आने वाले हैं तो उन्होंने ईडी के छापों के बारे में सोचा, लेकिन हम हर तरह का दबाव, परेशानियां सहने को तैयार हैं। हम अपना चुनाव प्रचार जारी रखेंगे और वे कामयाब नहीं हो पाएंगे।”