यहां मिले कोरोना के नए वेरिएंट से बजी खतरे की घंटी, केंद्र सरकार ने सभी राज्यों को किया अलर्ट, जारी किए दिशा-निर्देश

The new variant of Corona found here rang alarm bells

Edited By: , November 26, 2021 / 08:53 AM IST

नई दिल्‍ली। दक्षिण अफ्रीका में कोरोना वायरस का नया वैरिएंट पाए जाने के बाद भारत सरकार भी सतर्क हो गई है। समाचार एजेंसी पीटीआइ के मुताबिक केंद्र सरकार ने गुरुवार को इस बाबत सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को पत्र लिखकर सजग किया है। केंद्र ने राज्‍यों से दक्षिण अफ्रीका, हांगकांग और बोत्सवाना से आने या जाने वाले सभी अंतरराष्ट्रीय यात्रियों की कड़ी कोविड जांच करने के निर्देश जारी किए हैं।

पढ़ें- भारतीय सीमा के करीब म्यांमार में 6.1 की तीव्रता का भूकंप, घरों से भागकर बाहर निकले लोग

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के अतिरिक्त मुख्य सचिव या प्रधान सचिव या स्वास्थ्य सचिवों को लिखे पत्र में कहा कि दक्षिण अफ्रीका, हांगकांग और बोत्सवाना से आने वाले या इन देशों के रास्ते आने वाले सभी अंतरराष्ट्रीय यात्रियों की कड़ी स्क्रीनिंग और जांच की जाए क्‍योंकि इन देशों में कोविड-19 के गंभीर प्रभावों वाले नए वैरिएंट के सामने आने की जानकारी मिली है।

पढ़ें- भतीजे के साथ पत्नी का फोटो देख पति का चढ़ गया पारा, फिर दे दना.. दन, थाने तक पहुंच गया मामला

राजेश भूषण ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से यह सुनिश्चित करने के लिए कहा कि संक्रमित पाए गए यात्रियों के नमूने तुरंत निर्दिष्ट जीनोम अनुक्रमण प्रयोगशालाओं को भेजे जाएं। पत्र में राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र (एनसीडीसी) के हवाले से कहा गया है कि बोत्सवाना (3 मामले), दक्षिण अफ्रीका (6 मामले) और हांगकांग (1 मामले) में कोरोना के नए बी.1.1529 वैरिएंट के मामले सामने आए हैं।

पढ़ें- ‘भेड़िया’ में भयानक दिख रहे हैं वरुण धवन, फर्स्ट लुक आउट, कृति सेनन भी आएंगी नजर.. रिलीज डेट का ऐलान

भूषण ने कहा है कि कोरोना के इस वैरिएंट में बड़ी संख्या में म्‍यूटेशन हुए हैं। चूंकि हाल ही में वीजा पाबंदियों में ढील के चलते इसका देश के जनस्वास्थ्य पर गंभीर प्रभाव पड़ सकता है इसलिए जोखिम वाले देशों से आने वाले अंतरराष्ट्रीय यात्रियों की अनिवार्य रूप से कड़ी स्क्रीनिंग की जाए।

पढ़ें- कोविड-19 की रोकथाम के लिए नेजल स्प्रे का क्लीनिकल ट्रायल शुरू, क्या है नेजल स्प्रे वैक्सीन? जानिए

यही नहीं स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के दिशानिर्देशों के अनुरूप इन अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के संपर्क में आए लोगों पर भी नजर रखी जानी चाहिए।