CM Bhupesh Baghel will release the amount of Gaudhan Nyay Yojana

सीएम भूपेश बघेल आज जारी करेंगे गौधन न्याय योजना की राशि, 7 करोड़ 48 लाख रूपए का करेंगे भुगतान

सीएम भूपेश बघेल आज जारी करेंगे गौधन न्याय योजना की राशि! CM Bhupesh Baghel will release the amount of Gaudhan Nyay Yojana today

Edited By: , July 20, 2022 / 12:11 PM IST

Godhan nyay yojana payement : रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज विधानसभा भवन में आयोजित वर्चुअल कार्यक्रम के माध्यम से गोधन न्याय योजना के तहत पशुपालक ग्रामीणों, गौठानों से जुड़ी महिला समूहों और गौठान समितियों को 7 करोड़ 48 लाख रूपए की राशि ऑनलाइन जारी करेंगे। जिसमें एक जुलाई से 15 जुलाई तक राज्य के गौठानों में पशुपालक ग्रामीणों, किसानों, भूमिहीनों से क्रय किए गए गोबर के एवज में 2.69 करोड़ रूपए भुगतान, गौठान समितियों को 2.88 करोड़ और महिला समूहों को 1.91 करोड़ रूपए की लाभांश राशि शामिल हैं। गोधन न्याय योजना के तहत राज्य में अब तक हितग्राहियों को 293 करोड़ 94 लाख रूपए का भुगतान किया जा चुका है। 20 जुलाई को 10.84 करोड़ के भुगतान के बाद यह आंकड़ा 301 करोड़ 42 लाख रूपए हो जाएगा। >>*IBC24 News Channel के WhatsApp  ग्रुप से जुड़ने के लिए  यहां Click करें*<<

Read More: इतने दिनों तक बंद रहेंगी शराब और मांस मटन की दुकानें, इस वजह से राज्य सरकार ने लिया बड़ा फैसला 

गोधन न्याय योजना देश-दुनिया की इकलौती ऐसी योजना है, जिसके तहत छत्तीसगढ़ राज्य के गौठानों में 2 रूपए किलो की दर से गोबर की खरीदी की जा रही है। गौठानों में 15 जुलाई तक खरीदे गए गोबर के एवज में गोबर बेचने वाले ग्रामीणों को 150.75 करोड़ रूपए का भुगतान भी किया जा चुका है। 20 जुलाई को गोबर विक्रेताओं को 2.69 करोड़ रूपए का भुगतान होने के बाद यह आंकड़ा बढ़कर 153.44 करोड़ रूपए हो जाएगा। गौठान समितियों एवं महिला स्व-सहायता समूहों को अब तक 143.19 करोड़ रूपए राशि की भुगतान किया जा चुका है। गौठान समितियों को 2.88 करोड़ तथा स्व-सहायता समूह को 1.91 करोड़ रूपए के भुगतान के बाद यह आंकड़ा बढ़कर 147.99 करोड़ रूपए हो जाएगा। गौठानों में महिला समूहों द्वारा गोधन न्याय योजना के अंतर्गत क्रय गोबर से बड़े पैमाने पर वर्मी कम्पोस्ट, सुपर कम्पोस्ट, सुपर कम्पोस्ट प्लस एवं अन्य उत्पाद तैयार किया जा रहा है।

Read More: ब्रिटेन में इतिहास रचने के करीब भारतीय मूल के ऋषि सुनक, प्रधानमंत्री की रेस में बचे सिर्फ दो नेता 

महिला समूहों द्वारा 16 लाख 81 हजार क्विंटल वर्मी कम्पोस्ट तथा 5 लाख 16 हजार क्विंटल से अधिक सुपर कम्पोस्ट एवं 18 हजार 924 क्विंटल सुपर कम्पोस्ट प्लस खाद का निर्माण किया जा चुका है, जिसे सोसायटियों के माध्यम से शासन के विभिन्न विभागों एवं किसानों को रियायती दर पर प्रदाय किया जा रहा है। महिला समूह गोबर से खाद के अलावा गो-कास्ट, दीया, अगरबत्ती, मूर्तियां एवं अन्य सामग्री का निर्माण एवं विक्रय कर लाभ अर्जित कर रही हैं। गौठानों में महिला समूहों द्वारा इसके अलावा सब्जी एवं मशरूम का उत्पादन, मुर्गी, बकरी, मछली पालन एवं पशुपालन के साथ-साथ अन्य आय मूलक विभिन्न गतिविधियों का संचालन किया जा रहा है, जिससे महिला समूहों को अब तक 74 करोड़ 68 लाख रूपए की आय हो चुकी हैं। राज्य में गौठानों से 13,969 महिला स्व-सहायता समूह सीधे जुड़े हैं, जिनकी सदस्य संख्या 83,874 है। गौठानों में क्रय गोबर से विद्युत उत्पादन की शुरुआत की जा चुकी है।

और भी है बड़ी खबरें…

 

#HarGharTiranga