जेपी नड्डा देंगे इस्तीफा, जानिए देश में NDA की सरकार बनने के बाद भी क्यों आई ऐसी नौबत | JP Nadda will resign

जेपी नड्डा देंगे इस्तीफा, जानिए देश में NDA की सरकार बनने के बाद भी क्यों आई ऐसी नौबत

JP Nadda will resign: जेपी नड्डा देंगे इस्तीफा, जानिए देश में NDA की सरकार बनने के बाद भी क्यों आई ऐसी नौबत

Edited By :   Modified Date:  June 9, 2024 / 10:15 PM IST, Published Date : June 9, 2024/10:15 pm IST

नई दिल्ली: JP Nadda will resign भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष जेपी नड्डा को मोदी सरकार के तीसरे मंत्रिमंडल में शामिल किया गया। आज नई दिल्ली में राष्ट्रपति भवन के प्रांगण में भव्य शपथ ग्रहण समारोह हुआ। ऐसे में ये कयास लगाए जा रहे हैं कि क्या जेपी नड्डा भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद से इस्तीफा दे देंगे। इस कयास को और बल इसिलिए भी मिलता है क्योंकि भाजपा में ये रीत रही है कि किसी भी एक व्यक्ति को 2 पद नहीं दिए जाते हैं। ऐसे में अब जब नड्डा ने मंत्री के रूप में शपथ ले ली है तो ये माना जा रहा है कि अब भाजपा को नया अध्यक्ष जल्द ही मिलने जा रहा है। बता दें की 30 जून को जे पी नड्डा का कार्यकाल खत्म होने जा रहा है।

Read More: अपने ही स्कूल की छात्रा पर बिगड़ी प्रिंसिपल की नीयत, बना लिया हवस का शिकार, अब पहुंचा सलाखों के पीछे 

JP Nadda will resign जेपी नड्डा की अध्यक्षता में, भाजपा के नेतृत्व वाले NDA ने लोकसभा चुनावों में 273 सीटें जीतकर बहुमत का आंकड़ा पार कर लिया, जिससे विपक्ष के पुनरुत्थान के बावजूद मोदी के लिए प्रधानमंत्री के रूप में लगातार तीसरी बार जीत का मार्ग प्रशस्त हुआ। पार्टी सूत्रों ने बताया कि संसदीय चुनावों की घोषणा के बाद नड्डा ने देश भर में लगभग 140 अभियान चलाए। इस व्यस्त कार्यक्रम के बीच, उन्होंने पार्टी के कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों के साथ लगभग 70 संगठनात्मक बैठकें कीं, ताकि पार्टी के कार्यकर्ताओं में जोश भरा जा सके और पार्टी के व्यापक उद्देश्यों के अनुरूप एक एकीकृत मोर्चा सुनिश्चित किया जा सके।

Read More: Narendra Modi Oath Ceremony Live Updates : कैबिनेट के साथ नरेंद्र मोदी तैयार..! कुछ ही देर में लेंगे PM पद की तीसरी बार शपथ, यहां देखें पल-पल की अपडेट.. 

नड्डा की राजनीतिक यात्रा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) की छात्र शाखा अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) से शुरू हुई। वह 1991 में भाजपा की युवा शाखा, भारतीय जनता युवा मोर्चा (BJYM) के अध्यक्ष बने। कानून की डिग्री रखने वाले नड्डा ने पार्टी के प्रमुख पदों पर कार्य किया, बिहार से लेकर उत्तर प्रदेश, केरल, महाराष्ट्र और पंजाब तक कई राज्यों में चुनाव अभियान का नेतृत्व किया और अपने गृह राज्य हिमाचल प्रदेश में भाजपा सरकार में मंत्री के रूप में भी काम किया। उन्होंने मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में कैबिनेट मंत्री के रूप में भी कार्य किया।

Read More: Modi Cabinet Shapath Grahan : सीआर पाटिल, इंद्रजीत सिंह, अर्जुन राम मेघवाल बने मंत्री, राष्ट्रपति ने दिलाई पद और गोपनीयता की शपथ 

भाजपा प्रमुख को पार्टी के भीतर राजनीतिक शुद्धता का प्रतीक माना जाता है, सार्वजनिक रूप से उनका व्यवहार हमेशा विनम्र रहता है और प्रतिद्वंद्वियों पर उनके हमले कभी भी किसी अनुचित विवाद को जन्म नहीं देते। मोदी के साथ उनके मधुर संबंध हैं, जो लंबे समय तक हिमाचल प्रदेश में पार्टी के मामलों के प्रभारी रहे हैं।

Read More: Rahul Gandhi Tweet on Terrorist Attack : जम्मू-कश्मीर में बस पर हुए आतंकी हमले पर राहुल गांधी का ट्वीट, मृतकों के परिजनों के प्रति व्यक्त की संवेदनाएं.. 

नड्डा 2012 में राज्यसभा के लिए चुने गए और 2014 में जब शाह ने पार्टी अध्यक्ष का पद संभाला तो उन्हें पार्टी के संसदीय बोर्ड का सदस्य बनाया गया। संगठन में उनका लगातार बढ़ता कद तब भी जारी रहा जब 2019 में मोदी और शाह ने उन्हें भाजपा का राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष चुना। 2020 में शाह को मोदी मंत्रिमंडल में शामिल किए जाने और गृह मंत्री बनाए जाने के बाद उन्हें पार्टी अध्यक्ष बनाया गया।

IBC24 की अन्य बड़ी खबरों के लिए हमारे फेसबुक फेज को भी फॉलो करें

IBC24 की अन्य बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Follow the IBC24 News channel on WhatsAp

 

 
Flowers