हमास ने संघर्ष विराम के तहत बंधकों के तीसरे समूह को रिहा किया

हमास ने संघर्ष विराम के तहत बंधकों के तीसरे समूह को रिहा किया

  •  
  • Publish Date - November 27, 2023 / 12:39 AM IST

दीर अल बलाह/यरूशलम 26 नवंबर (एपी) इजराइल और हमास के बीच संघर्ष विराम रविवार को पटरी पर लौट आया और चरमपंथियों ने 14 इजराइली व एक अमेरिकी समेत 17 और बंधकों को रिहा कर दिया। चार दिवसीय संघर्ष विराम के तहत तीसरी बार बंधकों की रिहाई हुई है।

कुछ बंधकों के सीधे तौर पर इजराइल को सौंप दिया गया जबकि अन्य मिस्र के रास्ते रवाना हुए। इजराइल की सेना ने कहा कि एक बंधक को विमान के जरिए सीधे अस्पताल ले जाया गया।

रिहा किये गये बंधकों की उम्र चार से 84 साल के बीच है । रिहा होने वालों में चार साल की बच्ची अबीगैल एडन भी शामिल है, जिसके माता-पिता सात अक्टूबर को युद्ध शुरू करने वाले हमास के हमले में मारे गए थे।

अमेरिका के राष्ट्रति जो बाइडन ने कहा कि वह बच्ची की हालत के बारे में नहीं जानते हैं, लेकिन यह पुष्टि कर सकते हैं कि वह इजराइल में सुरक्षित है।

उन्होंने कहा कि उनके पास अन्य अमेरिकी बंधकों के बारे में ताजा जानकारी नहीं है और वह चाहते हैं कि जहां तक संभव हो संघर्ष विराम को बढ़ाया जाए।

समझौते के तहत इजराइल को रविवार को 39 फलस्तीनियों को रिहा करना था। संघर्ष विराम के अंतिम दिन सोमवार को चौथी बार कैदियों/बंधकों की अदला-बदली हो सकती है। इस संघर्ष विराम के दौरान कुल 50 बंधकों और 150 फलस्तीनियों की रिहाई होनी है। जिन लोगों की रिहाई होनी है वे सभी महिलाएं और नाबालिग हैं।

हमास ने शनिवार को इजराइल पर समझौते का उल्लंघन करने का आरोप लगाया था, जिसके चलते बंधकों और कैदियों की रिहाई में कई घंटों की देरी हुई।

शनिवार देर रात मध्य तेल अवीव में हजारों लोग एकत्रित हुए और उन्होंने हमास द्वारा सात अक्टूबर को बंधक बनाए गए सभी 240 लोगों को रिहा करने की मांग की। उन्होंने प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू पर बंधकों को वापस लाने के लिए पर्याप्त प्रयास नहीं करने का आरोप भी लगाया।

युद्ध में 1,200 से अधिक इजराइली नागरिकों की जानें जा चुकी है। हमास शासित गाजा में स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि 13,300 से अधिक फलस्तीनी मारे गए हैं, जिनमें लगभग दो तिहाई महिलाएं और बच्चे हैं।

हमास ने रविवार को घोषणा की थी कि उसके शीर्ष कमांडरों में से एक अहमद अल-घंडोर मारा गया है। उसने इस बारे कोई और जानकारी नहीं दी। वह उत्तरी गाजा का प्रभारी था और लड़ाई में मारे गए शीर्ष चरमपंथियों में शामिल है।

हमास ने इजराइल पर सात अक्टूबर को अप्रत्याशित हमला कर करीब 240 लोगों को बंधक बना लिया था, जिसके बाद इजराइल ने भी जवाबी कार्रवाई करते हुए गाजा पट्टी पर हमला किया। कतर, मिस्र और अमेरिका की मध्यस्थता से इजराइल और हमास के बीच शुक्रवार को यह संघर्ष विराम शुरू हुआ था।

इजराइल ने कहा है कि प्रत्येक अतिरिक्त 10 बंधकों की रिहाई के लिए युद्ध विराम की अवधि को एक दिन आगे बढ़ाया जा सकता है, लेकिन उसने युद्ध विराम समाप्त होने के बाद हमले शुरू करने की बात कही है।

इजराइल ने रविवार तड़के कहा कि उसे बंधकों की एक नई सूची प्राप्त हुई है जिन्हें तीसरे चरण में रिहा किया जाना है।

शुक्रवार सुबह प्रभावी हुए इस युद्धविराम से गाजा के 23 लाख लोगों को राहत मिली, जो पिछले कई हफ्तों से इजराइल द्वारा की जा रही लगातार बमबारी से परेशान हैं और मूलभूत जरूरत की चीजों की आपूर्ति की कमी से जूझ रहे थे। इस बमबारी में हजारों लोगों की जान चली गई, तीन-चौथाई आबादी बेघर हो गई और आवासीय क्षेत्र नष्ट हो गये।

संयुक्त राष्ट्र ने कहा कि युद्ध विराम से व्यापक स्तर पर खाद्य सामग्री, पानी और दवा की आपूर्ति का रास्ता खुला है। इसके साथ ही, रसोई गैस की आपूर्ति भी शुरू कर दी गई। युद्ध शुरू होने के बाद पहली बार रसोई गैस की आपूर्ति की गई है।

एपी जोहेब रंजन

रंजन

रंजन