अगले साल चुनाव, भाजपा में बिखराव! जेल भरो आंदोलन में खुलकर सामने आई गुटबाजी, कई दिग्गज नेताओं को रखा गया दूर

अगले साल चुनाव, भाजपा में बिखराव! जेल भरो आंदोलन में खुलकर सामने आई गुटबाजी_ Factionalism came to the fore in Jail Bharo movement

Edited By: , May 17, 2022 / 10:50 PM IST

दुर्गः Factionalism came to the fore 2023 को लेकर भाजपा अपने कार्यकर्ताओं को चार्ज करने की कोशिश कर रही है। वही पार्टी की अंदरूनी कलह भी सामने आ रही है। दुर्ग और भिलाई के जिला संगठन में सरोज पांडेय के समर्थक हावी हैं। दुर्ग लोकसभा सांसद विजय बघेल, पूर्व मंत्री प्रेमप्रकाश पांडेय की संगठन से अनदेखी की जा रही है। यहां तक कि इस लोकसभा क्षेत्र के एकमात्र भाजपा विधायक विद्यारतन भसीन की भी अनदेखी हो रही है।

Read more : छत में सो रहे दंपति और उनकी नाबालिग पोती की धारदार हथियार से हत्या, इलाके में फैली सनसनी, जांच में जुटी पुलिस 

Factionalism came to the fore हाल ही में जेल भरो आंदोलन के पूर्व बैठक में गुटबाजी नजर आई। जिसमे प्रदेश संगठन महामंत्री पवन साय की उपस्थिति में सांसद विजय बघेल और राज्यसभा सांसद सरोज पांडेय के भाई राकेश पांडेय के बीच मंच पर तनातनी दिखी। ये मामला यही नहीं थमा।

Read more :  ‘निकम्मा’ का ट्रेलर रिलीज, सुपरवुमेन के किरदार में दिखी शिल्पा, फैंस बोलें एक और रीमेक 

जिला भाजपा दुर्ग के मीडिया प्रभारी की तरफ से प्रेस विज्ञप्ति जारी कर प्रदेश पदाधिकारी ऊषा टावरी, चंद्रिका चन्द्राकर, भिलाई जिलाध्यक्ष वीरेंद्र साहू और पूर्व विधायक सांवलाराम डाहरे ने सांसद के खिलाफ बयान जारी किया। आंदोलन के लिए बनाए गए सभा स्थल के मंच पर भी बिखराव साफ नजर आया। जहां स्टेज पर लगे बैनर से विधायक विद्यारतन भसीन, पूर्व मंत्री प्रेमप्रकाश पांडेय और रमशीला साहू को दूर रखा गया।