Rape with 10 years Minor boy

10 साल के लड़के से गैंगरेप, तीन दोस्तों ने किया घिनौना काम, महिला आयोग ने कहा- लड़के भी महफूज नहीं

Rape with 10 years Minor boy : दो आरोपियों को पकड़कर किशोर न्याय बोर्ड के समक्ष पेश किया गया है और तीसरे लड़के को पकड़ने के प्रयास जारी हैं

Edited By: , September 25, 2022 / 10:56 PM IST

नयी दिल्ली।  उत्तर-पूर्वी दिल्ली के न्यू सीलमपुर इलाके में 10 वर्षीय एक लड़के के साथ उसके तीन दोस्तों ने मारपीट की और कथित तौर पर उससे कुकर्म किया। पुलिस ने रविवार को यह जानकारी दी। पुलिस अधिकारियों ने कहा कि दो आरोपियों को पकड़कर किशोर न्याय बोर्ड के समक्ष पेश किया गया है और तीसरे लड़के को पकड़ने के प्रयास जारी हैं।

दिल्ली महिला आयोग (डीसीडब्ल्यू) ने इस मामले में पुलिस को नोटिस जारी कर आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है। डीसीडब्ल्यू ने कहा कि उसे एक महिला की शिकायत मिली जिसमें कहा गया है कि उसके बेटे का आरोपियों ने यौन उत्पीड़न किया जिन्होंने उसके गुप्तांग में रॉड डाल दी।

यह भी पढ़ें :  इस ई-कॉमर्स साइट ने तोड़ा रिकॉर्ड , फेस्टिव सेल के पहले दिन ही आए 87.6 लाख ऑर्डर

हालांकि, पुलिस ने कहा कि अब तक की जांच में यह सामने नहीं आया है कि पीड़ित के गुप्तांग में रॉड डाली गई थी, लेकिन मेडिकल जांच से इसका पता चल जाएगा। पीड़ित और आरोपी पड़ोसी हैं और वे सभी 10-12 साल के आयु वर्ग के हैं। पुलिस ने कहा कि वे एक ही समुदाय के हैं। अधिकारियों ने कहा कि यह घटना 18 सितंबर को हुई थी।

अधिकारियों ने बताया कि पुलिस को 22 सितंबर को लोक नायक जयप्रकाश (एलएनजेपी) अस्पताल से सूचना मिली थी कि 10 वर्षीय एक लड़के को शारीरिक प्रताड़ना के बाद भर्ती कराया गया है। अधिकारियों ने कहा कि एक पुलिस टीम अस्पताल पहुंची और लड़के के माता-पिता से मिली, जिन्होंने बयान देने से इनकार कर दिया। पुलिस ने कहा कि बच्चा चिकित्सकीय निगरानी में है। हालांकि जांच अधिकारी ने लगातार परिवार से संपर्क किया, लेकिन शनिवार तक उन्होंने कोई बयान नहीं दिया।

यह भी पढ़ें :  हाइवे चेकिंग के दौरान मिला 72 किलो गांजे का जखीरा, देखकर उड़ गए पुलिस के होश

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि इसके बाद पुलिस ने सखी नाम के संगठन से एक काउंसलर की व्यवस्था की और लड़के और उसकी मां की काउंसलिंग की गई। अधिकारी ने बताया कि व्यापक काउंसलिंग के बाद पीड़ित की मां ने खुलासा किया कि 18 सितंबर को उसके बेटे के साथ उसके तीन दोस्तों ने मारपीट की और उससे कुकर्म किया।

 

अधिकारी ने कहा कि उनके बयान के आधार पर भारतीय दंड संहिता की धारा 377 (अप्राकृतिक कृत्य) और 34 (समान मंशा) तथा यौन अपराधों से बच्चों का संरक्षण अधिनियम (पॉक्सो) के तहत मामला दर्ज किया गया है। पुलिस ने कहा कि पीड़ित अभी भी चिकित्सकीय निगरानी में है। डीसीडब्ल्यू ने 28 सितंबर तक मामले में दर्ज प्राथमिकी की प्रति के साथ पकड़े गए आरोपियों के ब्योरे और की गई कार्रवाई की विस्तृत रिपोर्ट मांगी है। डीसीडब्ल्यू प्रमुख स्वाति मालीवाल ने कहा, ‘‘यह बहुत ही भयावह घटना है। लड़के के साथ चार लोगों ने सामूहिक बलात्कार किया, जिन्होंने उसके गुप्तांग में रॉड डालकर उसे बेरहमी से पीटा।’’

मालीवाल ने कहा, ‘‘लड़का फिलहाल अस्पताल में भर्ती है और गहन चिकित्सा कक्ष (आईसीयू) में है। हमारी टीम लगातार परिवार के साथ मौजूद है और उनकी मदद कर रही है। आरोपियों को तुरंत गिरफ्तार किया जाए और उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए।’’

और भी है बड़ी खबरें…