MP local body election 2022: इंद्रदेव को मनाने में जुटी कांग्रेस

इंद्र की कृपा के लिए तरस रही कांग्रेस, एमपी की सियासत में टोने टोटके की एंट्री

MP local body election 2022: इंद्र की कृपा के लिए तरस रही कांग्रेस, एमपी की सियासत में टोने टोटके की एंट्री

Edited By: , July 1, 2022 / 12:08 PM IST

MP local body election 2022: भोपाल। मानसून का इंतजार आम तौर पर  किसान करते है पर इस बार मध्य प्रदेश में नेताओ को सियासी बारिश का इंतजार है,  मध्य प्रदेश में मानसून के सीजन में हो रहे निकाय चुनाव बीजेपी और कांग्रेस दोनों के लिए चुनाव में हार जीत का कारण बन सकते है। प्रदेश के सभी 16 नगर निगम पिछली बार बीजेपी सरकार के पाले में थी ऐसे में कांग्रेस को लगता है कि अगर निकाय चुनाव से पहले मानसून मेहरबान हो गया तो बीजेपी के विकास के दावों की पोल खुल जायेगी। जिसका फायदा कांग्रेस को मिलेगा।

ये भी पढ़े- ईडी के समक्ष आज पेश होंगे शिवसेना सांसद संजय राउत

इंद्र देव को मनाने में जुटी कांग्रेस

MP local body election 2022: मध्य प्रदेश में मानसून के बीच हो रहे निकाय चुनाव में बारिश कांग्रेस और बीजेपी की उम्मीदों पर पानी फेर सकती है। दरअसल मध्य प्रदेश में वोटरों से ज्यादा कांग्रेस को मूसलाधार बारिश का इंतजार हैं कांग्रेस को उम्मीद हैं शहरों में कांग्रेस की सरकार इंद्र देव ही बनवाएंगे। दरअसल, कांग्रेस को इंतजार है कि बारिश के बाद बीजेपी के विकास के दावों की पोल नगर निगमों में खुलेंगी। बारिश की वजह से सीवेज जाम होंगे, निचली बस्तियों के डूबने के हालात बनेंगे, सड़कों पर पानी भरने लगेगा, लोगों के घरों में पानी घुसेगा, बिजली कटेगी होगी तब बीजेपी के दावों की हवा निकलेगी।

ये भी पढ़े- Maharashtra Politics! आज ED के सामने पेश होंगे संजय राउत, ट्वीट कर शिवसेना कार्यकर्ताओं से की ये अपील

बीजेपी ने लगाया टोना टोटका का आरोप

MP local body election 2022: नगर सरकार के चुनाव में बीजेपी  ईश्वर से यह मनाने में जुटी है कि मतदान से पहले बारिश न हो क्योंकि, आधा-एक घंटे की बारिश ने जबलपुर और सागर में विकास की सारी पोल खोलकर रख दी। प्रदेश के अन्य शहरों में भी काली घटाएं देखकर बीजेपी को हवाइयां उड़ी हुई है क्योंकि यही स्थिति बाकी शहरों में भी है। बारिश के चलते शहरों को स्मार्ट सिटी और हाईटक सिटी बनाने संबंधी सत्ताधारी दल के दावे अगर नहीं दिखा पा रहे लोगों को भरोसा दिलाने में उन्हें पसीना आ रहा है। यही कारण है कि निकाय चुनाव में भाजपा के सभी प्रत्याशियों को यही डर सता रहा है कि यदि ज्यादा हो गई तो पानी के साथ उनकी जीत की उम्मीदें भी बह जाएंगी। हालांकि बीजेपी का कहना है की कांग्रेस जानबूझकर टोटके करवा रही है जिससे की बारिश के कारण हालत बदले।

ये भी पढ़े- बंद घर में मिली 15 दिन पुरानी लाश, देखकर उड़ गए लोगों के होश…

पहली बारिश ने खोली विकास की पोल

MP local body election 2022: मध्य प्रदेश में प्रमुख विपक्षी दल कांग्रेस ने तो बारिश में शहरी बाशिंदों की हो रही फजीहत के कई वीडियो फुटेज को अपने चुनाव प्रचार का हिस्सा हो बना लिया है। भोपाल, इंदौर और रीवा-सतना में भी कमोवेश यही स्थिति बनी हुई है। जबलपुर और सागर में आधा-एक घंटे को बारिश ने सड़कों, नालियों और पुल-पुलियों की पोल खोलकर रख दी।जिसके बाद यहां सबसे बड़ा मुद्दा खराब सड़के और जलभराव बन गया है। ऐसे में सागर और जबलपुर में बने  हालातों के बाद बीजेपी प्रत्याशियों  नींद उड़ी हुई है।

 

#HarGharTiranga