Balrampur news: छत्तीसगढ़ के मजदूर की गुजरात में पीट-पीटकर हत्या, मॉब लिंचिंग का शिकार हुआ युवक

छत्तीसगढ़ के मजदूर की गुजरात में पीट-पीटकर हत्या, मॉब लिंचिंग का शिकार हुआ युवक Chhattisgarh laborer beaten to death in Gujarat

  • Updated On - March 23, 2023 / 06:08 PM IST

Chhattisgarh laborer beaten to death in Gujarat: बलरामपुर। जिले के वाड्रफनगर क्षेत्र के ग्राम हरिगवां के रहने वाले एक मजदूर की गुजरात में पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। बताया जा रहा है कि मृतक मॉब लिंचिंग का शिकार हुआ है। दरअसल, मजदूर काम करने के लिए गुजरात गया था, वहां काम नहीं मिलने पर मुंशी से अपने पैसे लेकर घर वापस आ रहा था तभी गांव के कुछ लोगों ने पकड़कर चोर समझकर मारपीट कर उसकी हत्या कर दिया है। इस वारदात से परिजनों में मातम पसर गया है।

Read more: जिला अस्पताल में बच्चों की अदला-बदली.. बेटा पैदा होने की खबर देकर हाथ में पकड़ा दी बेटी, DNA टेस्ट की मांग कर रहे परिजन 

मृतक रामेश्वर खैरवार बलरामपुर जिले के हरिगवा गांव का रहने वाला है। जो कि अपने ससुराल मढ़ना गांव में लंबे समय से रह रहा था और परिवार को चलाने के लिए मजदूरी का काम करने के लिए गुजरात आना जाना करता था। रामेश्वर खैरवार के परिवार में उसकी पत्नी और तीन बच्चे है, जिनका पालन पोषण रामेश्वर ही करता था। बीते 16 मार्च को रामेश्वर मढ़ना से गुजरात के खेड़ा गया हुआ था, जहां पर उसकी कुछ दिन पहले अपने पत्नी से बात हुई थी। रामेश्वर का कहना था कि उसकी तबियत ठीक नहीं लग रही है और वह वापस अपने गांव आना चाहता है। इसके बाद रामेश्वर जिस कंपनी में काम करता था वहां से अपने मजदूरी के पैसे लेकर ट्रेन से वापस आ रहा था, तभी रास्ते में करीब 70 किलोमीटर के बाद ट्रेन से उतर गया।

Read more: पति बना हैवान..! मसाला कूटने की मूसली से कूटा पत्नी का सिर, रोंगटे खड़े कर देगी वजह 

मृतक की पत्नी ने बताया कि रामेश्वर की दिमागी हालत ठीक नहीं थी। इसलिए गुजरात के किसी गांव को अपना गांव समझ कर ट्रेन से उतर गया, जहां पर चोरी के शक पर गांव के लोगों ने उसके साथ मारपीट की थी और इलाज के दौरान गुजरात में ही उसकी मौत हो गई थी।इसकी सूचना कंपनी के मुंशी ने मृतक रामेश्वर के परिजनों को दी थी, जिसके बाद मृतक के परिजन रामेश्वर के डेडबॉडी को लेने के लिए गुजरात रवाना हो चुके है। अब रामेश्वर की मौत के बाद परिवार के सामने बच्चों के भविष्य और उन्हें पालने की समस्या खड़ी हो गई है, क्योंकि परिवार को चलाने वाला रामेश्वर ही था जो अब माब लिंचिंग का शिकार हो चुका है। अब परिवार वाले सरकार से न्याय की गुहार लगा रहे है।

Read more: कांग्रेस जिलाध्यक्ष के बिगड़े बोल, पूर्व विधायक को बताया हराम की कमाई खाने वाला नेता, बोले- उनको तो टैक्सी वाले भी नहीं बिठाते 

मृतक की पत्नी ने बताया कि पति की मौत की जानकारी के बाद उसके डेडबॉडी को लाने के लिए रघुनाथनगर थाने में सहायत मांगने गई थी, लेकिन वहां पर मृतक का पंजियन मांगा गया जो कि उसके पास नही था ,जिसके बाद मृतक के परिजन खुद ही गुजरात के लिए रवाना हो गए है । वीओ02- रामकेश्वर लगातार गुजरात आना-जाना करता था मजदूरी करके ही वह अपने परिवार का पालन किया करता था लेकिन भाषा की समझ नहीं होना और दिमागी हालत ठीक नहीं होने से एक मजदूर की हत्या कर दी गई है बहरहाल देखने वाली बात होगी इस पूरे मामले में पुलिस क्या कार्रवाई करती है। – IBC24 से अरुण कुमार सोनी की रिपोर्ट