‘भाजपा कार्यकर्ताओं का थाने में आना मना है’ थाने के बाहर लगा पोस्टर, अखिलेश यादव ने तस्वीरे शेयर कर साधा निशाना

'भाजपा कार्यकर्ताओं का थाने में आना मना है' ! BJP workers are not allowed in police station' stick Poster in Police Station

Edited By: , May 28, 2022 / 11:19 AM IST

लखनऊ: BJP workers not allowed in police station विधानसभा चुनाव में जीत के बाद विपक्ष में बैठी सपा भाजपा सरकार पर हमलावर है। सपा प्रमुख अखिलेश यादव लगातार अलग-अलग मुद्दों को लेकर योगी सरकार पर प्रहार कर रहे हैं। इसी कड़ी में अखिलेश यादव ने अपने सोशल मीडिया एकाउंट पर एक तस्वीरे शेयर करते हुए योगी सरकार पर निशाना साधा है। बताया जा रहा है कि ये तस्वीर मेरठ के एक थाने की है, जहां बैनर लगा है, जिसमें लिखा है ‘भाजपा कार्यकर्ताओं का थाने में आना मना है।’>>*IBC24 News Channel के WhatsApp  ग्रुप से जुड़ने के लिए Click करें*<<

Read More: चुनावी मोड में भाजपा, एक जून से बूथों में जाएंगे सांसद ,विधायक और प्रदेश पदाधिकारी, कार्यसमिति की बैठक में हुआ फैसला

BJP workers not allowed in police station इसी पोस्टर पर अखिलेश ने कविता के रूप में सरकार पर तंज कसा है। अखिलेश ने लिखा, ‘ ऐसा पहली बार हुआ है इन पांच-छह सालों में, सत्तापक्ष के लोगों का आना मना हुआ थानों में, ये है उप्र की भाजपा सरकार का बुलंद इक़बाल! अखिलेश के ट्वीट पर तरह-तरह के रिएक्शन भी आ रहे हैं। हालांकि मामला कुछ और ही बताया जा रहा है।

Read More: इंतजार की घड़ी खत्म, सालों बाद बड़े पर्दे पर वापसी कर रहे ये सुपरस्टार, इस फिल्म से तोड़ देंगे केजीएफ, पुष्पा और ट्रिपल आर के रिकॉर्ड…

बताया जाता है कि मेरठ के मेडिकल थाने में शुक्रवार को भाजपा कार्यकर्ताओं ने जमकर बवाल काटा। एक महिला से जुड़े मामले में थाने पहुंचे कार्यकर्ताओं ने इंस्पेक्टर से नोंकझोक के बाद आपा खो दिया और थाना परिसर में धरने पर बैठ गए। इसके बाद कार्यकर्ताओं ने इंस्पेक्टर संत शरण सिंह के नाम से थाने पर बैनर टांग दिया। इस बैनर पर लिखा था, ‘भाजपा कार्यकर्ताओं का थाने में आना मना है।’ थाने के बाहर लगे इसी बैनर की तस्वीर कुछ ही देर में वायरल हो गई और अखिलेश यादव ने भी शेयर कर दी।

Read More: डॉक्टरों की लापरवाही के चलते चार बच्चे हुए HIV संक्रमित, बिना जांच चढ़ाया गया था खून

ये है पूरा मामला

ग्राम मसूरी निवासी पूजा की शादी चार साल पहले वैशाली कॉलोनी निवासी अवधेश से हुई थी। करीब आठ महीने पहले बीमारी के चलते अवधेश की मृत्यु हो गई। आरोप है कि पति की मृत्यु के बाद ससुराल पक्ष ने पूजा को घर से निकाल दिया। कुछ दिन पहले पूजा ने बच्चों का हवाला देकर पति की आंगन काम्पलेक्स स्थित स्पेयर पार्ट्स की दुकान खोलने की कोशिश की तो ससुराल पक्ष ने विरोध कर दिया। मामला पुलिस तक पहुंचा तो शुक्रवार को इंस्पेक्टर मेडिकल संत शरण सिंह ने दोनों पक्षों को वार्ता के लिए थाने बुला लिया। करीब दो घंटे बातचीत हुई लेकिन समाधान नहीं निकला। महिला की ओर से सागर पोसवाल व अंकुर चौधरी पहुंचे थे। उन्होंने इंस्पेक्टर पर महिला के पक्ष में कार्रवाई कर दुकान पर कब्जा दिलाने का दबाव बनाया।

Read More: बैंक ऑफ इंडिया की शाखा से 1 करोड़ रुपए की लूट, लूटेरों ने दिनदहाड़े दिया वारदात को अंजाम

इंस्पेक्टर ने मना कर दिया। सागर व अंकुर चौधरी ने फोन कर शंभू पहलवान सहित कुछ और कार्यकर्ताओं को बुला लिया। सभी थाने में हंगामा करने लगे, जिस पर इंस्पेक्टर ने थाने से बाहर जाने के लिए कह दिया। इस पर विवाद गर्मा गया और करीब पांच घंटे तक हंगामे के बाद भाजपा कार्यकर्ताओं ने बैनर लगा दिया।

Read More: जीएसटी टीम की बड़ी कार्रवाई.. दो कारोबारियों के ठिकानों पर दी दबिश