The beginning of Krishna Kunj on Janmashtami in the state, preparations

प्रदेश में जन्माष्टमी पर कृष्णाकुंज की शुरुवात, जगह-जगह जन्मोत्सव और मटकी फोड़ की तैयारियां

Janmashtami 2022: The beginning of Krishna Kunj on Janmashtami in the state, जगह-जगह जन्मोत्सव और मटकी फोड़ की तैयारियां

Edited By: , August 19, 2022 / 01:09 PM IST

रायपुर। Janmashtami 2022: देशभर में आज जन्माष्टमी का पर्व मनाया जा रहा है। कहीं बालगोपाल की झांकी निकली रही है, तो कहीं कार्यक्रम आयोजित कर रासलीला दिखाया जा रहा है। हर गली- चौराहों में मटकी फोड़ का आयोजन भी किया जा रहा है। इस शुभ अवसर पर छत्तीसगढ़ में शुक्रवार यानी आज से शहरी गार्डन ‘कृष्ण कुंज’ की शुरुआत होगी। प्रदेश भर में ऐसे 162 कुंज विकसित किए जाने हैं। यहां सांस्कृतिक-धार्मिक महत्व के पेड़-पौधों को लगाया जाना है। जन्माष्टमी के अवसर पर शुक्रवार को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल राजधानी रायपुर के तेलीबांधा और गुढ़ियारी में विकसित किए जा रहे कृष्ण कुंज में सांस्कृतिक व जीवनोपयोगी पौधों के रोपण की शुरुआत करेंगे।

युवाओं से ज्यादा शराब पीने की अपील! यहां की सरकार ने किया खास इनाम देने का ऐलान

मंदिरों में गूजां नंदलाला का नाम

Janmashtami 2022: रायपुर शहर के मंदिरों में आज हर तरफ नंद के आनंद भयो जय कन्हैया लाल की गूंज रहा है। प्रदेश के सभी कृष्ण मंदिरों और दूसरे मंदिरों में भी सुबह से ही उत्सव का माहौल है। रायपुर, बिलासपुर, दुर्ग-भिलाई के मंदिर फूलों, झांकियों, बिजली की झालरों से जगमगा रहे हैं। मंदिरों में भजन-कीर्तन गूंज रहे हैं और कान्हा के लिए 56 भोग सज गए हैं। सभी को इंतजार है रात 12 बजे का जब ईश्वर श्रीकृष्ण रूप में जन्म लेंगे। लोगों में संक्रमण को लेकर सतर्कता है, लेकिन जन्माष्टमी का त्योहार मनाने की उत्सुकता और जोश लोगों में दिख रहा है। मंदिर में लोग लगातार दर्शन करने पहुंच रहे हैं। सभी मंदिरों में विशेष पूजा का आयोजन किया गया है। लोग बाल गोपाल को झूला झूलाने की रस्म भी निभा रहे हैं।

जगह-जगह किया जा रहा दही हांडी का आयोजन

Janmashtami 2022: रायपुर में कृष्ण जन्माष्टमी के मौके पर गुढ़ियारी सहित अन्य जगहों पर दही हांडी का आयोजन किया जा रहा है। गुढ़ियारी में वर्षों से होने वाले इस स्पर्धा में राज्य के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी शामिल होंगे। इस बार भव्य तरीके से दही हांडी और दही मटका फोड़ प्रतियोगिता आयोजित की जा रही है। बीते 2 सालों से कोरोना के कारण कई कार्यक्रमों पर रोक लग गई थी। यही कारण है कि पिछले दो सालों से जन्माष्टमी के दूसरे दिन होने वाले दही हांडी लूट स्पर्धा पर भी प्रतिबंध लग गया था। हालांकि इस बार पिछले दो सालों के मुकाबले कोरोना कम होने की वजह से रायपुर में दही हांडी लूट स्पर्धा का आयोजन होने वाला है। इसे लेकर राजधानी में तैयारियां शुरू हो गई है।

बहन को अश्लील मैसेज भेजता था दोस्त, पकड़े जाने पर भाईयों ने उठाया खौफनाक कदम 

कई राज्यों से कार्यक्रम की प्रस्तुति देने आ रही टोलियां

Janmashtami 2022: 2 साल बाद होने वाले इस आयोजन में कई राज्यों से भी टोलियां आने वाली है, जो प्रतियोगिता में शामिल होकर अपना प्रदर्शन दिखाएंगे। खास बात यह है कि इस साल सैनिक भर्ती में शामिल होने वाले युवक-युवतियां भी हिस्सा लेंगे। नागपुर का फेमस बाजा आकर्षण का केंद्र होगा. जिसमें करीब 100 लोग एक साथ बाजा बजाते नजर आएंगे। साथ ही सालों से सप्रे शाला मैदान में होने वाला दहीहंडी लूट इस बार ऐतिहासिक दशहरा मैदान रावण भाटा में होने जा रहा है। यहां भी प्रदेशभर की टोलियां स्पर्धा में हिस्सा लेने पहुंचेंगे। साथ ही विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी आयोजन होगा।

देश दुनिया की बड़ी खबरों के लिए यहां करें क्लिक