प्रधानमंत्री मोदी सोचते हैं कि वह भगवान से अधिक जानते हैं: राहुल; भाजपा ने ‘फर्जी गांधी’ बताया

प्रधानमंत्री मोदी सोचते हैं कि वह भगवान से अधिक जानते हैं: राहुल; भाजपा ने ‘फर्जी गांधी’ बताया

  • Publish Date - May 31, 2023 / 08:44 PM IST

(तस्वीरों के साथ)

सांता क्लारा/नयी दिल्ली, 31 मई (भाषा) कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर निशाना साधते हुए उन्हें एक ऐसा व्यक्ति बताया, जो सोचते हैं कि वह भगवान से अधिक जानते हैं। साथ ही उन्होंने आरोप लगाया कि भारत की अवधारणा पर हमला हो रहा है। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने इस पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए उन्हें ‘‘फर्जी गांधी’’ करार दिया।

भाजपा ने मोदी और उनके शासन पर तंज कसने को लेकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष पर पलटवार किया।

सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने दावा किया कि राहुल गांधी विदेशी धरती पर देश (भारत) को बदनाम करने के वास्ते ‘भारत विरोधी दुष्प्रचार करने के लिए’ प्रायोजित कार्यक्रमों में शामिल होने विदेश गये हैं।

अमेरिका में कैलिफोर्निया प्रांत के सांता क्लारा में भारतीय-अमेरिकी समुदाय के लोगों को संबोधित करते हुए गांधी ने कहा, ‘‘यह एक बीमारी है। भारत में लोगों का एक समूह है, जो इसे लेकर पूरी तरह से आश्वस्त है कि वे सब कुछ जानते हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘असल में, ऐसे लोगों को यह लगता है कि वे भगवान से भी अधिक जानते हैं। वे भगवान के साथ बैठकर उनसे बातचीत कर सकते हैं, उन्हें इस बारे में विस्तार से बता सकते हैं कि क्या कुछ हो रहा है। बेशक, हमारे प्रधानमंत्री ऐसे ही एक व्यक्ति हैं।’’

राहुल गांधी ने ‘इंडियन ओवरसीज कांग्रेस यूएसए’ द्वारा आयोजित ‘मोहब्बत की दुकान’ कार्यक्रम में, संभवत: मोदी सरकार पर कटाक्ष करते हुए कहा कि वे लोग ‘‘पूरी तरह से इस बात को लेकर आश्वस्त’’ हैं कि वे सब कुछ जानते हैं। ये लोग इतिहासकारों को इतिहास, वैज्ञानिकों को विज्ञान और सेना को युद्ध लड़ने की तरकीब बता सकते हैं।’’

गांधी ने कहा, ‘‘यदि आप मोदीजी को भगवान के साथ बिठा दें, तो वह उन्हें विस्तार से समझा सकते हैं कि ब्रह्मांड कैसे काम करता है और भगवान भी यह जान कर असमंजस में पड़ जाएंगे कि मैंने क्या सृजित किया है।’’

भाजपा नेता ठाकुर ने नयी दिल्ली में कहा कि राहुल गांधी ने भारत में मुसलमानों को कथित तौर पर निशाना बनाए जाने की तुलना 1980 के दशक में उत्तर प्रदेश में दलितों के साथ होने वाली घटनाओं से की, लेकिन वह (राहुल) लोगों को यह बताना भूल गए कि उस समय देश और राज्य में कांग्रेस की सरकार थी।

उल्लेखनीय है कि कार्यक्रम में श्रोताओं में से एक व्यक्ति ने भारत में मुस्लिमों को कथित तौर पर निशाना बनाये जाने के बारे में गांधी से सवाल पूछा था।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने यह भी आरोप लगाया कि दलितों और आदिवासियों के अलावा सिखों और ईसाइयों जैसे अन्य अल्पसंख्यकों को निशाना बनाया जा रहा है।

वहीं, मोदी सरकार की आलोचना करने को लेकर गांधी पर प्रहार करते हुए ठाकुर ने दावा किया कि यह पहली बार नहीं है कि उन्होंने (राहुल ने) अपनी विदेश यात्रा पर भारत और भारतीयता को बदनाम किया है।

भाजपा नेता ने कहा कि यह उनकी (राहुल की) आदत हो गई है क्योंकि वह भारत को एक राष्ट्र नहीं मानते। उन्होंने दावा किया कि राहुल ने पूर्व में खुद ऐसा कहा था।

ठाकुर ने कहा, ‘‘इस तरह के कार्यक्रमों के पीछे कौन लोग हैं और किन लोगों के मंच भारत विरोधी इस तरह की चीजों के लिए इस्तेमाल किये जाते हैं।’’

केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने दावा किया कि कांग्रेस नेता का इतिहास का ज्ञान उनके परिवार से आगे नहीं बढ़ सका है।

उन्होंने कहा, ‘‘यह हास्यास्पद है कि जो कुछ भी नहीं जानता है वह अचानक हर चीज का विशेषज्ञ बन जाता है। एक व्यक्ति जिसका इतिहास ज्ञान अपने परिवार से परे नहीं जाता, वह इतिहास के बारे में बात कर रहा है।’’

जोशी ने कहा, ‘‘नहीं मिस्टर फर्जी गांधी! भारत का मूल इसकी संस्कृति है। भारतीयों को अपने इतिहास पर बहुत गर्व है और वे अपने भूगोल की बहुत अच्छी तरह से रक्षा कर सकते हैं। आपकी तरह नहीं, जो देश को बदनाम करने के लिए विदेशी धरती का इस्तेमाल करते हैं।’’

भाजपा के मुख्य प्रवक्ता एवं राज्यसभा सदस्य अनिल बलूनी ने कहा कि देश को बदनाम करना और उसके खिलाफ साजिश करना कांग्रेस के चरित्र में है।

उन्होंने कहा कि दुनिया प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में हुए विकास के लिए भारत की सराहना कर रही है लेकिन देश के कुछ नेता विदेशी धरती पर उसे बदनाम करने का काम कर रहे हैं।

भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं राज्यसभा सदस्य सुशील मोदी ने कहा कि गांधी ‘हताशा’ में इस तरह की टिप्पणी कर रहे हैं क्योंकि देश के लोग प्रधानमंत्री मोदी के साथ खड़े हैं।

भारत में अल्पसंख्यक समुदाय की स्थिति के बारे में गांधी की टिप्पणी पर भाजपा सांसद ने दावा किया कि प्रधानमंत्री मोदी के शासन के तहत मुसलमान पहले से कहीं अधिक सुरक्षित हैं।

उन्होंने कहा कि देश में मुसलमान मुफ्त रसोई गैस कनेक्शन से लेकर शौचालय तक विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के समान रूप से लाभार्थी हैं और प्रधानमंत्री मोदी की सरकार ‘सबका साथ, सबका विकास’ के दृष्टिकोण के साथ काम कर रही है।

राजदंड ‘सेंगोल’ को लेकर पैदा हुए विवाद के बारे में गांधी ने कहा कि मोदी और उनकी सरकार बेरोजगारी, महंगाई, नफरत एवं घृणा फैलाने जैसे मुद्दों का समाधान नहीं कर सकती।

प्रधानमंत्री मोदी द्वारा रविवार को नए संसद भवन में ‘सेंगोल’ स्थापित करने का जिक्र करते हुए गांधी ने कहा, ‘‘… भाजपा वास्तव में इन मुद्दों पर चर्चा नहीं कर सकती, इसलिए उन्हें राजदंड की बात करनी पड़ी… दंडवत प्रणाम करना और ये सब…।’’

गांधी पर भाजपा के प्रहार करने को लेकर कांग्रेस ने सत्तारूढ़ दल पर पलटवार किया।

कांग्रेस ने कहा कि देश में महंगाई, बेरोजगारी और घृणा लोगों को नुकसान पहुंचाने वाले मुद्दे हैं और इससे ध्यान नहीं भटकाया जा सकता।

पार्टी महासचिव जयराम रमेश ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘भारत जोड़ो यात्रा एक परिवर्तनकारी आंदोलन रहा है। इसने देश और दुनियाभर में मौजूद करोड़ों भारतीय नागरिकों को प्रभावित किया क्योंकि इसने लोगों के मुद्दे उठाने का एक मंच प्रदान किया था।’’

भाषा सुभाष देवेंद्र

देवेंद्र