विशेषज्ञ समिति ने हरित वित्त पर अपनी रिपोर्ट आईएफएससीए को सौंपी |

विशेषज्ञ समिति ने हरित वित्त पर अपनी रिपोर्ट आईएफएससीए को सौंपी

विशेषज्ञ समिति ने हरित वित्त पर अपनी रिपोर्ट आईएफएससीए को सौंपी

: , November 29, 2022 / 07:49 PM IST

नयी दिल्ली, पांच अक्टूबर (भाषा) अंतरराष्ट्रीय वित्तीय सेवा केंद्र प्राधिकरण (आईएफएससीए) ने बुधवार को कहा कि पूर्व पर्यावरण सचिव सी के मिश्रा की अध्यक्षता वाली विशेषज्ञ समिति ने हरित वित्त पर अपनी रिपोर्ट उसे सौंप दी है। इसमें अन्य बातों के अलावा कार्बन बाजार के विकास का सुझाव दिया गया है।

आईएफएससीए ने बयान में कहा कि समिति ने हरित और भरोसेमंद वित्त से संबंधित उत्पादों, नीतियों और विनियमन, क्षमता निर्माण समेत विभिन्न पहलुओं पर अपनी सिफारिशें दी हैं।

कुछ महत्वपूर्ण सिफारिशों में एक स्वैच्छिक कार्बन बाजार विकसित करना, ‘ट्रांजिशन’ बॉन्ड के लिए ढांचा, हरित वित्तीय प्रौद्योगिकी के लिये नियामकीय ‘सैंडबॉक्स’ व्यवस्था को बढ़ावा देना और वैश्विक जलवायु गठजोड़ बनाने के लिये चीजों को सुगम बनाना आदि शामिल है।

‘ट्रांजिशन’ बॉन्ड से प्राप्त राशि का उपयोग पर्यावरण अनुकूल तकनीक के उपयोग या कार्बन उत्सर्जन में कमी लाने के उपायों में किया जाता है।

समिति ने देश के आर्थिक विकास में सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उद्यमों (एमएसएमई) क्षेत्र के महत्व को ध्यान में रखते हुए ऋण देने की हरित व्यवस्था के लिये अलग से एमएसएमई मंच स्थापित करने का भी प्रस्ताव रखा है।

समिति ने नगरपालिका बॉन्ड, हरित प्रतिभूतिकरण जैसे वित्तीय उत्पादों के उपयोग की सिफारिश की है।

समिति के सदस्यों में हरित वित्त परिवेश से जुड़े विशेषज्ञ शामिल थे। समिति ने अपनी रिपोर्ट तीन अक्टूबर को सौंपी।

मिश्रा ने कहा, ‘‘समिति के सदस्यों के पास जिस प्रकार का अनुभव था और जिस व्यापक फलक पर सिफारिशें आधारित हैं, निश्चित रूप से यह आईएफएसीए के प्रयासों को सही रास्ता दिखाएगा और इसे हरित वित्त के भरोसेमंद केंद्र के रूप में पेश करेगा।’’

आईएफसीए की स्थापना अंतरराष्ट्रीय वित्तीय सेवा केंद्र प्राधिकरण अधिनियम, 2019 के तहत अप्रैल 2020 में की गई थी। इसका मुख्यालय गांधीनगर के गिफ्ट सिटी में है।

भाषा

रमण अजय

अजय

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)