भारत वैश्विक नवोन्मेष सूचकांक में छह पायदान चढ़कर 40वें स्थान पर |

भारत वैश्विक नवोन्मेष सूचकांक में छह पायदान चढ़कर 40वें स्थान पर

भारत वैश्विक नवोन्मेष सूचकांक में छह पायदान चढ़कर 40वें स्थान पर

: , November 29, 2022 / 07:58 PM IST

नयी दिल्ली, 29 सितंबर (भाषा) भारत वैश्विक नवोन्मेष सूचकांक में छह पायदान ऊपर चढ़कर 40वें स्थान पर पहुंच गया है। कई मानदंडों में सुधार से भारत की रैंकिंग बेहतर हुई है।

जिनेवा के विश्व बौद्धिक संपदा संगठन (डब्ल्यूआईपीओ) की रिपोर्ट के अनुसार, बुनियादी ढांचे को छोड़कर सभी क्षेत्रों में भारत का नवोन्मेष प्रदर्शन मध्य आय वाले समूह के देशों में ऊंचा है। केवल बुनियादी ढांचा क्षेत्र में अंक औसत से कम है।

इसमें कहा गया है, ‘‘तुर्किये और भारत पहली बार शीर्ष 40 में शामिल हुए हैं। तुर्किये जहां 37वें स्थान पर है वहीं भारत 40वें पायदान पर है। नवाचार के मामले में भारत शीर्ष निम्न मध्यम आय वाली अर्थव्यवस्था में वियतनाम से आगे निकल गया है। सूची में वियतनाम 48वें स्थान पर है।

रिपोर्ट के अनुसार, मध्यम आय वाली अर्थव्यवस्थाओं में चीन, तुर्किये और भारत निरंतर नवोन्मेष परिदृश्य को बदल रहे हैं। वहीं ईरान और इंडोनेशिया जैसे देशों ने इस मामले में बेहतर क्षमता दिखाई है।

इसमें कहा गया है, ‘‘मध्य और दक्षिण एशिया में भारत 40वें स्थान के साथ अगुवा है। भारत की रैंकिंग लगातार सुधरी है। 2015 में जहां यह 81वें स्थान पर था, वहीं 2021 में 46वें स्थान पर रहा।’’

इसपर अपनी प्रतिक्रिया में वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने कहा, ‘‘भारत में अभी जैसा नवोन्मेष हो रहा है, वैसा पहले कभी नहीं था।’’

रैंकिंग में स्विट्जरलैंड शीर्ष स्थान पर है। उसके बाद अमेरिका, स्वीडन, ब्रिटन और नीदरलैंड का स्थान है। चीन सूची में 11वें स्थान पर है।

भाषा

रमण अजय

अजय

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)