स्टाम्प शुल्क में कटौती के बाद कोलकाता में घरों का पंजीकरण दोगुना से अधिक हुआ

स्टाम्प शुल्क में कटौती के बाद कोलकाता में घरों का पंजीकरण दोगुना से अधिक हुआ

Edited By: , October 16, 2021 / 06:57 PM IST

नयी दिल्ली, 16 अक्टूबर (भाषा) कोलकाता में जुलाई-सितंबर के दौरान घरों का पंजीकरण दोगुना से भी अधिक होकर 15,160 इकाई पर पहुंच गया। राज्य सरकार द्वारा स्टाम्प शुल्क में कटौती के निर्णय से पंजीकरण में वृद्धि देखी गई है। नाइट फ्रैंक ने अपनी रिपोर्ट में यह जानकारी दी।

संपत्ति सलाहकार कंपनी नाइट फ्रैंक ने कहा कि जुलाई-सितंबर, 2021 के दौरान कोलकाता महानगर क्षेत्र में कुल 15,160 आवासीय बिक्री विलेख का पंजीकरण हुआ, जो इससे पिछले वर्ष की इसी अवधि की तुलना में 122 प्रतिशत अधिक है।

आंकड़ों के अनुसार जुलाई, अगस्त और सितंबर में घरों का पंजीकरण सालाना आधार पर क्रमश : 39 प्रतिशत, 268 प्रतिशत और 80 प्रतिशत बढ़ गया। अगस्त में 7,316 इकाइयों का पंजीकरण हुआ, जो इस साल किसी एक महीने में बिक्री का सबसे ऊंचा स्तर है।

उल्लेखनीय है कि पश्चिम बंगाल सरकार ने जुलाई, 2021 में राज्य के बजट में सभी दस्तावेजों पर स्टाम्प शुल्क में दो प्रतिशत की कटौती की घोषणा की थी।

संपत्ति सलाहकार कंपनी ने कहा कि स्टाम्प शुल्क में छूट का लाभ उन दस्तावेजों के लिए उपलब्ध है, जिनका पंजीकरण नौ जुलाई, 2021 से 30 अक्टूबर, 2021 के बीच पूरा होगा।

नाइट फ्रैंक ने कहा कि स्टाम्प शुल्क में कटौती के साथ सर्किल दरों में 10 प्रतिशत की कमी से घरों के खरीदार बाजार में लौटे हैं।

भाषा जतिन अजय

अजय