वेदांता समूह 2050 तक शुद्ध रूप से शून्य कार्बन उत्सर्जन को प्रतिबद्ध

वेदांता समूह 2050 तक शुद्ध रूप से शून्य कार्बन उत्सर्जन को प्रतिबद्ध

Edited By: , November 24, 2021 / 09:01 PM IST

नयी दिल्ली, 24 नवंबर (भाषा) वेदांता समूह ने प्राकृतिक संसाधन क्षेत्र में पर्यावरण, सामाजिक दायित्व एवं कंपनी कामकाज (ईएसजी) मामले में अग्रणी बनने का बुधवार को संकल्प जताया। कंपनी ने कहा कि वह वर्ष 2050 तक शुद्ध रूप से शून्य कार्बन उत्सर्जन का लक्ष्य हासिल करने के लिए प्रतिबद्ध है।

वेदांता ने पर्यावरण, सामाजिक दायित्व एवं कंपनी कामकाज मानकों पर समूह की प्रतिबद्धता जताने वाला अपना बयान जारी किया। उसने अगले दस वर्षों में शुद्ध-शून्य उत्सर्जन की दिशा में तेजी से कदम बढ़ाने के लिए पांच अरब डॉलर के निवेश का संकल्प भी जताया।

इस मौके पर वेदांता समूह ने अपने ध्येय वाक्य को भी बदला है। अब वेदांता समाज में सार्थक बदलाव का संदेश देने के लिए ‘अच्छे के लिए बदलते हुए’ को अपना ध्येय बनाया है।

वेदांता की निदेशक प्रिया अग्रवाल ने कहा, ‘एक विविधिकृत प्राकृतिक संसाधन कंपनी के तौर पर वेदांता टिकाऊ एवं जिम्मेदार वृद्धि के लिए प्रतिबद्ध है। यह पर्यावरणीय सहयोग, सामाजिक समता एवं प्रभाव और अच्छे कॉरपोरेट शासन के सिद्धांतों पर निर्भर करता है।’

भाषा प्रेम

Prem रमण

रमण