राष्ट्रीय ध्वज उतारने के दौरान करंट लगने से एक छात्रा की मौत

राष्ट्रीय ध्वज उतारने के दौरान करंट लगने से एक छात्रा की मौत

: , January 27, 2022 / 02:43 PM IST

महासमुंद (छत्तीसगढ़), 27 अगस्त (भाषा) छत्तीसगढ़ के महासमुंद जिले में अनुसूचित जनजाति कन्या छात्रावास में राष्ट्रीय ध्वज उतारने के दौरान दो छात्राएं करंट की चपेट में आ गईं। इस घटना में एक छात्रा की मौत हो गई है, जबकि एक अन्य छात्रा झुलस गई।

महासमुंद जिले के पुलिस अधिकारियों ने बृहस्पतिवार को बताया कि जिले के पटेवा कस्बे में स्थित ‘प्री मैट्रिक अनुसूचित जनजाति कन्या छात्रावास’ में राष्ट्रीय ध्वज उतारने के दौरान करंट की चपेट में आने से नौंवी कक्षा की छात्रा किरण दीवान की मौत हो गई और 10वीं कक्षा की छात्रा काजल चौहान झुलस गई।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि पुलिस को जानकारी मिली है कि पटेवा के अनुसूचित जनजाति छात्रावास में बुधवार को गणतंत्र दिवस के मौके पर लोहे के एक ऊंचे पाइप के सहारे राष्ट्रीय ध्वज फहराया गया था। शाम को जब बालिकाएं ध्वज निकाल रही थीं, तब पाइप बिजली के तार से टकरा गया। इससे दोनों को करंट लगा और घटनास्थल पर ही किरण की मौत हो गई।

उन्होंने बताया कि अन्य छात्रों और छात्रावास में मौजूद कर्मचारियों ने इसकी जानकारी पुलिस को दी।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि बालिका के शव को कब्जे में ले लिया गया है। वहीं, हादसे में झुलस गई बालिका को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मामले की जांच की जा रही है।

महासमुंद जिले के अधिकारियों ने बताया कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश पर जिले के कलेक्टर निलेश कुमार क्षीरसागर ने छात्रावास की अधीक्षिका ऐश्वर्या साहू को लापरवाही के आरोप में तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है, क्योंकि साहू छात्राओं से झंडा उतरवा रहीं थी और तभी यह हादसा हुआ।

उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस हादसे पर दुख जताया है और मृत छात्रा के परिजन को पांच लाख रुपये का मुआवजा देने का निर्देश दिया है।

भाषा सं संजीव संजीव निहारिका

निहारिका

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)