गणतंत्र दिवस से पहले दिल्ली पुलिस ने बढ़ाई सुरक्षा |

गणतंत्र दिवस से पहले दिल्ली पुलिस ने बढ़ाई सुरक्षा

गणतंत्र दिवस से पहले दिल्ली पुलिस ने बढ़ाई सुरक्षा

: , January 24, 2023 / 10:19 PM IST

( तस्वीर सहित )

नयी दिल्ली, 24 जनवरी (भाषा) दिल्ली पुलिस ने गणतंत्र दिवस से पहले राष्ट्रीय राजधानी में तोड़फोड़ रोधी जांच, सत्यापन अभियान और गश्त तेज कर दी है, ताकि किसी भी अप्रिय घटना को रोका जा सके। अधिकारियों ने मंगलवार को यह जानकारी दी।

पुलिस ने बताया कि गणतंत्र दिवस समारोह में हिस्सा लेने वालों के लिये नयी दिल्ली जिले में तकरीबन 6000 सुरक्षाकर्मी तैनात किये जाएंगे और कुल 24 ‘हेल्प डेस्क’ बनाए जाएंगे।

पुलिस ने बताया कि बम निरोधक दल द्वारा श्वान दस्ते के साथ बाजारों, अधिक भीड़ वाले इलाकों और अन्य प्रमुख स्थानों पर जांच की जा रही है।

उन्होंने बताया कि पुलिस होटलों और लॉज आदि की जांच कर रही है और साथ ही वहां के कर्मचारियों को किसी भी संदिग्ध व्यक्ति या गतिविधि के बारे में तुरंत पुलिस को सूचित करने के लिए कह रही है।

पुलिस ने बताया कि सभी सहायक पुलिस आयुक्त और थाना प्रभारी रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन और मार्केट वेलफेयर एसोसिएशन के सदस्यों के साथ बैठक कर रहे हैं और उन्हें गणतंत्र दिवस के लिए सुरक्षा उपायों के बारे में जानकारी दे रहे हैं।

उन्होंने बताया कि दिल्ली पुलिस सोशल मीडिया पर भी लोगों को जागरूक कर रही है और लोगों से किसी भी संदिग्ध व्यक्ति, गतिविधि या वस्तु आदि के बारे में सतर्क करने के लिए कह रही है।

पुलिस ने बताया कि किरायेदारों और नौकरों का सत्यापन भी किया जा रहा है। होटलों, अतिथि गृहों और ‘धर्मशालाओं’ में औचक निरीक्षण किया जा रहा है।

पुलिस ने बताया कि कई जिलों ने आतंकवाद रोधी उपायों के लिए अपनी तैयारियों की जांच के लिए ‘मॉक ड्रिल’ भी की है।

अधिकारियों के अनुसार, अन्य सुरक्षा एजेंसियों के साथ समन्वय करते हुए आतंकवाद रोधी उपाय तेज कर दिए गए हैं, क्योंकि दिल्ली हमेशा आतंकवादियों या असामाजिक तत्वों के निशाने पर रही है।

अधिकारियों ने बताया कि इस साल, सीमाई इलाकों में अतिरिक्त चौकियों की स्थापना कर सुरक्षाकर्मियों की तैनाती की गई है, ताकि अवांछित तत्व राष्ट्रीय राजधानी में प्रवेश न कर सकें।

उन्होंने बताया कि दिल्ली पुलिस की आंतरिक बैठकों के अलावा, सुरक्षा में कोई चूक न हो, यह सुनिश्चित करने के लिए अंतर-राज्यीय समन्वय बैठकें भी आयोजित की जा रही हैं। उन्होंने कहा कि मॉल, बाजारों, रेलवे और मेट्रो स्टेशनों और बस टर्मिनलों पर जांच बढ़ा दी गई है।

पुलिस ने बताया कि गणतंत्र दिवस समारोह में लगभग 60,000 से 65,000 लोगों के भाग लेने की उम्मीद है।

नयी दिल्ली के पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) प्रणव तायल ने बताया कि इस साल प्रवेश पास पर दिए गए क्यूआर कोड के आधार पर होगा। वैध पास या टिकट के बिना किसी भी व्यक्ति को अनुमति नहीं दी जाएगी।

डीसीपी ने बताया कि 150 से अधिक सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं और उनमें से कुछ में चेहरे की पहचान प्रणाली भी है।

पुलिस ने बताया कि एक ‘एनएसजी’ और ‘डीआरडीओ’ की ड्रोन रोधी टीम को भी तैनात किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि मध्य दिल्ली में बहुमंजिला इमारतों पर सुरक्षाकर्मी तैनात किए जाएंगे और जांच के बाद हर साल की तरह 25 जनवरी को प्रतिष्ठानों को सील कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि सुरक्षाकर्मी किसी भी तरह के खतरे से निपटने के लिए तैयार हैं।

भाषा जितेंद्र दिलीप

दिलीप

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)