एनआईए ने जमात-उल-मुजाहिदीन के चार बांग्लादेशी एवं भारतीय सदस्य के विरूद्ध आरोपपत्र दाखिल किया

एनआईए ने जमात-उल-मुजाहिदीन के चार बांग्लादेशी एवं भारतीय सदस्य के विरूद्ध आरोपपत्र दाखिल किया

: , January 10, 2022 / 04:36 PM IST

कोलकाता, 10 जनवरी (भाषा) राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) ने प्रतिबंधित जमात-उल-मुजाहिदीन (जेएमबी) के चार बांग्लादेशी एवं एक भारतीय सदस्य के खिलाफ मुस्लिम युवाओं को कथित रूप से कट्टरपंथ का पाठ पढ़ाने एवं जेएमबी/ एक्यूआईएस (भारतीय उपमहाद्वीप में अलकायदा) में भर्ती करने को लेकर आरोपत्र दाखिल किया है। एक अधिकारी ने सोमवर को यह जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि इस आरोपपत्र में पश्चिम बंगाल के उत्तरी 24 परगना के लालू सेन के साथ-साथ नाजी-उर-रहमान पवेल, मिकाइल खान, रबी-उल-इस्लाम और मोहम्मद अब्दुल मनान बच्चू को नामजद किया गया है।

एनआईए अधिकारी ने बताया कि इन बांग्लादेशियों पर भादंसं, अवैध गतिविधि रोकथाम अधिनियम (यूएपीए), विदेशी अधिनियम और पासपोर्ट कानून की संबंधित धाराएं लगायी गयी हैं।

उनके अनुसार यह मामला तीन बांग्लादेशी नागरिकों की आपराधिक साजिश से जुड़ा है जो भारत एवं बांग्लादेश में ‘खलीफा’ प्रणाली स्थापित करने के वास्ते मुस्लिम युवाओं को उकसाकर भर्ती करने एवं आतंकवादी गतिविधियों को आगे बढ़ाने के लिए जेएमबी /एक्यूआईएस के अपने साथियों के साथ देश में दाखिल हुए थे।

एनआईए अधिकारी ने बताया कि ये चारों बांग्लादेशी एवं भारतीय आरोपी भारत में जेएमबी/एक्यूआईएस टोली (मॉड्यूल) स्थापित करने तथा अपनी विचारधारा के प्रसार एवं आतंकी गतिविधियों की साजिश रचने में सक्रिय रूप से शामिल थे।

अभिकरण का कहना है कि आरोपियों को ‘हवाला’ के मार्फत बांग्लादेश से पैसा मिला था और जांच से बचने के लिए फर्जी तरीके से भारतीय पहचान पत्र हासिल कर लिये थे। मामले की जांच जारी है।

भाषा

राजकुमार माधव

माधव

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)