संसद का शीतकालीन सत्र पुराने भवन में आयोजित करने की तैयारियां जोरों पर : सूत्र |

संसद का शीतकालीन सत्र पुराने भवन में आयोजित करने की तैयारियां जोरों पर : सूत्र

संसद का शीतकालीन सत्र पुराने भवन में आयोजित करने की तैयारियां जोरों पर : सूत्र

: , December 1, 2022 / 10:35 PM IST

नयी दिल्ली, एक दिसंबर (भाषा) सात दिसंबर से शुरु हो रहे संसद के शीतकालीन सत्र को मौजूदा भवन में आयोजित करने की तैयारियां जोरों से चल रही हैं, वहीं नए भवन का निर्माण कार्य पूरा होने की नवंबर की समय सीमा समाप्त होने के साथ ही परियोजना को जल्द से जल्द पूरा करने के प्रयास किए जा रहे हैं। आधिकारिक सूत्रों ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी।

आवास एवं शहरी मामलों के राज्य मंत्री कौशल किशोर ने चार अगस्त को लोकसभा को बताया था कि नए संसद भवन की भौतिक प्रगति 70 प्रतिशत है। उन्होंने कहा था कि इस परियोजना के पूरा होने की समय सीमा नवंबर है।

सूत्रों ने कहा कि कोविड महामारी के साथ ही रूस-यूक्रेन युद्ध सहित कई अन्य वजहें भी रहीं जिनसे नए संसद भवन का निर्माण कार्य प्रभावित हुआ। रूस-यूक्रेन युद्ध की वजह से विदेश से होने वाली आपूर्ति प्रभावित हुई।

एक आधिकारिक सूत्र ने पीटीआई-भाषा को बताया, ”जब आप अनुबंध की शर्तों को देखें तो दस्तावेज में अप्रत्याशित परिस्थितियों का भी उल्लेख है। यूक्रेन-रूस युद्ध एक अप्रत्याशित परिस्थिति है और कोविड-19 महामारी की तीसरी लहर भी एक अप्रत्याशित परिस्थिति थी।”

एक अन्य सूत्र ने बताया कि शीतकालीन सत्र के मौजूदा संसद भवन में आयोजित करने के लिए तैयारियां जोरों पर हैं। यह सात दिसंबर से शुरू होकर 29 दिसंबर तक चलेगा।

केंद्रीय आवास एवं शहरी मामलों के मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने चार नवंबर को कहा था कि नए संसद भवन का निर्माण कार्य तेज गति से चल रहा है।

नया संसद भवन ‘सेंट्रल विस्टा’ परियोजना का हिस्सा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिसंबर 2020 में नए संसद भवन की नींव रखी थी और इसका निर्माण टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड द्वारा किया जा रहा है।

नए भवन में भारत की लोकतांत्रिक विरासत को दर्शाने के लिए एक भव्य संविधान हॉल, सांसदों के लिए एक लाउंज, एक ग्रंथालय, समिति कक्ष, खान-पान क्षेत्र और पर्याप्त पार्किंग स्थान भी होगा।

भाषा अविनाश मनीषा

मनीषा

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)