मुन्नाभाई खुद को बाल ठाकरे समझते हैं, शॉल ओढ़ते हैं: राज ठाकरे पर उद्धव का परोक्ष हमला

मुन्नाभाई खुद को बाल ठाकरे समझते हैं, शॉल ओढ़ते हैं: राज ठाकरे पर उद्धव का परोक्ष हमला

: , May 14, 2022 / 10:41 PM IST

मुंबई, 14 मई (भाषा) महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने हिंदुत्व को लेकर मनसे प्रमुख राज ठाकरे पर परोक्ष रूप से निशाना साधते हुए अपने चचेरे भाई और फिल्म ‘लगे रहो मुन्नाभाई’ के मुख्य किरदार के बीच समानताएं गिनाते हुए कहा कि यहां एक असली मुन्नाभाई खुद को बाल ठाकरे समझते हैं और शॉल ओढ़ते हैं।

मुंबई के बीकेसी मैदान में शनिवार को एक जनसभा को संबोधित करते हुए शिवसेना प्रमुख उद्धव ने ‘‘लगे रहो मुन्नाभाई’’ में अभिनेता संजय दत्त के किरदार का जिक्र किया, जिसे हर जगह महात्मा गांधी की छवि नजर आने लगती है।

उद्धव ने कहा, ‘‘मुन्नाभाई सोचता है कि वह महात्मा गांधी के साथ बातचीत कर रहा है, लेकिन फिल्म के अंत से पता चलता है कि यह केमिकल ‘लोचा’ का मामला है…कई मुन्नाभाई हैं जो घूम रहे हैं।’’

उद्धव ने राज का नाम लिए बिना कहा, ‘‘हमारे यहां ऐसा ही एक मामला है। यहां एक मुन्नाभाई खुद को बालासाहेब (शिवसेना संस्थापक बाल ठाकरे) के रूप में देखता है और शॉल ओढ़ता है।’’

हाल में, राज ठाकरे ने हनुमान जयंती के अवसर पर हनुमान की महाआरती करते हुए भगवा शॉल ओढ़ा था। महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के कार्यकर्ताओं ने राज ठाकरे को ‘‘हिंदुजननायक’’ के रूप में बताना शुरू कर दिया है क्योंकि उन्होंने मस्जिदों से लाउडस्पीकर हटाने की मांग की और पार्टी कार्यकर्ताओं से हनुमान चालीसा को जोर से बजाने के लिए कहा है। राज ने जनसंख्या वृद्धि को रोकने के लिए समान नागरिक संहिता और कानून की भी वकालत की है।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर निशाना साधते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि 2017 से 2022 तक दो करोड़ लोगों की नौकरी चली गई। उन्होंने कहा, ‘‘सभी राजनीतिक दलों को इस तथ्य पर विचार करना चाहिए।’’

भाषा आशीष माधव

माधव

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)