नकारात्मक पत्रकारिता के सिद्धांत की उत्पत्ति पश्चिम में हुई: आरएसएस नेता ने कहा

नकारात्मक पत्रकारिता के सिद्धांत की उत्पत्ति पश्चिम में हुई: आरएसएस नेता ने कहा

: , May 24, 2022 / 12:41 AM IST

नागपुर, 23 मई (भाषा) राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के एक पदाधिकारी ने सोमवार को कहा कि “नकारात्मक पत्रकारिता” का सिद्धांत पश्चिम से आया है और खबरों में “नकारात्मकता” को कम करने की जिम्मेदारी पत्रकारों की है, अन्यथा उनकी विश्वसनीयता खतरे में पड़ जाएगी।

आरएसएस के अखिल भारतीय सह प्रचार प्रमुख नरेंद्र कुमार ने खबरों, शिक्षा और इतिहास में एक विशेष प्रकार के ‘विमर्श’ के निर्माण पर चिंता जताई और कहा कि एक पत्रकार को किसी मुद्दे पर अपनी राय तथा विचार व्यक्त करने की बजाय केवल सच बोलना चाहिए।

उन्होंने कहा कि ‘न्यूजपेपर’ (समाचारपत्र) अब ‘व्यूजपेपर’ (विचारपत्र) बन गए हैं। कुमार ने नागपुर में विश्व संवाद केंद्र द्वारा आयोजित देवर्षि नारद जयंती पत्रकार सम्मान समारोह में संबोधन के दौरान यह कहा।

भाषा यश वैभव

वैभव

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)