ममता बनर्जी और सीबीआई में टकराव,पूरे पश्चिम बंगाल में टीएमसी का प्रदर्शन, सीबीआई के 5 अधिकारी हिरासत में

 Edited By: Abhishek Mishra

Published on 04 Feb 2019 09:25 AM, Updated On 04 Feb 2019 09:25 AM

नई दिल्ली। देश के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ जब सबसे बड़ी जांच एजेंसी के पांच अधिकारियों को राज्य की पुलिस ने हिरासत में ले लिया। अब ये लड़ाई पश्चिम बंगाल बनाम केंद्र सरकार हो गई है। शारदा चिट फंड घोटाले की जांच कर रही सीबीआई टीम रविवार शाम कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार के घर पहुंची जिसके बाद से बंगाल की राजनीति में उथल पुथल मच गया।

ममता बनर्जी रात से ही धरने पर बैठी हैं साथ में कोलकाता के पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार भी धरने पर बैठ गए हैं। टीएमसी के कार्यकर्ता जगह जगह प्रदर्शन करने लगे। कई जगह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पुतले फूंके गए और हावड़ा-हुगली में ट्रेन को रोक दिया गया। एक तरफ कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार के घर को किले में तब्दील कर दिया गया।

जहां बिना इजाजत परिंदा भी पर न मार सके। वहीं सीबीआई अधिकारियों की सुरक्षा के लिए तत्काल केंद्र सरकार ने सीआरपीएफ बल को तैनात किया। धरने पर बठी मता बनर्जी ने केंद्र सरकार पर बदले की भावना से काम करने का आरोप लगाया है। साथ पूरा विपक्ष भी अब ममता बनर्जी के साथ आकर खड़ा हो गया। आज कई विपक्षी दलों के नेता भी कोलकाता पहुंचने वाले हैं। वहीं आज CBI बंगाल सरकार के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट का रुख करने वाली है।

क्या था पूरा मामला-

दरअसल कोलकाता में उस समय हाई-वोल्टेज ड्रामा देखने को मिला, जब रोजवैली और शारदा चिटफंड घोटाले की जांच से जुड़ी फाइलें गायब होने को लेकर कमिश्नर राजीव कुमार से पूछताछ करने पहुंचे 15 सीबीआई अधिकारियों और स्थानीय पुलिस के बीच टकराव हो गया। कोलकाता पुलिस ने सीबीआई के सभी अधिकारियों को हिरासत में ले लिया। इसके बाद सीएम ममता बनर्जी भी अपने अधिकारी के पक्ष में धर्मतल्ला इलाके में धरने पर बैठ गईं। मुख्यमंत्री, प्रदेश के डीजीपी और मेयर भी कमिश्नर के घर पहुंच गए। हालांकि, बाद में सीबीआई के अफसरों को छोड़ दिया गया। इस बीच संकेत हैं सीबीआई सुप्रीम कोर्ट जा सकती है।

सूत्रों के मुताबिक, सीबीआई इस मामले में राज्यपाल से भी दखल की मांग कर सकती है। रविवार को हुए अभूतपूर्व घटनाक्रम में कमिश्नर राजीव कुमार से पूछताछ करने शेक्सपीयर सारनी थाना क्षेत्र स्थित उनके घर पहुंचे सीबीआई अधिकारियों को पुलिस ने घर के अंदर नहीं जाने दिया और उनसे हाथापाई की। पुलिस सीबीआई टीम से कोर्ट का वारंट देखने की मांग करती रही। इसके बाद पुलिस सीबीआई अधिकारियों को जीप में भरकर थाने ले गई। फिर पुलिस सीबीआई के संयुक्त निदेशक पंकज श्रीवास्तव को हिरासत में लेने के लिए उनके घर पहुंची।

Web Title : Conflicts between Mamta Banerjee and the CBI

जरूर देखिये