गोपाल भार्गव बने मध्यप्रदेश के नए नेता प्रतिपक्ष, राजनाथ और सहस्त्रबुद्धे की मौजूदगी में हुआ चयन

 Edited By: Sanjeet Tripathi

Published on 07 Jan 2019 07:22 PM, Updated On 07 Jan 2019 07:22 PM

भोपाल। गोपाल भार्गव मध्यप्रदेश विधानसभा के नए नेता प्रतिपक्ष होंगे। उन्हें मध्यप्रदेश की 15वीं विधानसभा के लिए ये ज़िम्मेदारी सौंपी है। पार्टी पर्यवेक्षक के रुप में मौजूद केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह और प्रदेश प्रभारी विनय सहस्त्रबुद्धे की मौजूदगी में भार्गव को इस पद के लिए चुना गया।

माना जा रहा है कि विधानसभा चुनाव के दौरान सवर्ण मतों का न मिलना और सपाक्स के कारण पार्टी को हुए नुकसान को देखते हुए बीजेपी ने नेता प्रतिपक्ष के रुप में चुना है। हालांकि भार्गव वरिष्ठ विधायक हैं। भार्गव संघ के करीबी भी माने जाते हैं। नेता प्रतिपक्ष की दौड़ में नरोत्तम मिश्रा और राजेन्द्र शुक्ल का नाम भी चल रहा था। वे शिवराज सरकार में पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री थे।

यह भी पढ़ें : एनडीए से एक और सहयोगी दल ने तोड़ा नाता, असम गण परिषद ने वापस लिया समर्थन 

गोपाल भार्गव रहली विधानसभा सीट से विधायक हैं। वो इस सीट से 1985 से लगातार चुनाव जीतते आ रहे हैं। वे 8वीं बार विधायक चुने गए हैं। प्रदेश में सबसे ज्यादा विधानसभा चुनाव जीतने वाले पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर के बाद दूसरा नंबर गोपाल भार्गव का है। रहली सीट बीजेपी की गढ़ मानी जाती है।

Web Title : Gopal Bhargava becomes new Opposition leader of Madhya Pradesh

जरूर देखिये