गधों के मेले में जीएसटी की फजीहत 

Reported By: Pushpraj Sisodiya, Edited By: Pushpraj Sisodiya

Published on 03 Nov 2017 12:31 PM, Updated On 03 Nov 2017 12:31 PM

 

मध्यप्रदेश की धार्मिक राजधानी कहे जाने वाले उज्जैन का नाम आते ही मन में कुंभ मेले की तस्वीरें कौंध जाती है लेकिन, आज हम आपको उज्जैन में ही लगने वाले एक ऐसे मेले के बारे में बताएंगे जहां सलमान, आलिया, बाहुबली और शाहरूख खान भी बिकने के लिए खरीददारों का बेसब्री से इंतजार करते है। हम बात कर रहे है देश के इकलौते गधों के मेले की हर साल कार्तिक माह में चार दिन तक चलने वाले इस अनोखे मेले को देखने दूर-दूर से लोग उज्जैन  पहुंचते हैं। गधों का मेला आम लोगों के लिए कोतुहल का विषय बना रहता है। 

मक्खन खाइए नहीं तो मक्खन लगाइए !

मेले में अपने गधों को बेचने आए लोगों की माने तो यह मेला रियासत काल से चला आ रहा है। बदलते समय और मशीनीकरण के बावजूद भी  इस मेले ने अपनी प्रासंगिकता बनाए रखी रही है। यहां मध्यप्रदेश के साथ ही राजस्थान, गुजरात और देश के कई हिस्सों से गधों का व्यापार करने वाले लोग जमा होते है। उन्होंने बताया की गधों के दांत देखकर उनकी उम्र का अंदाजा लगाया जाता है और उसी हिसाब से उनकी कीमत भी तय की जाती है। 

अधपकी रह गई खिचड़ी, हरसिमरत कौर ने बताया ख्याली पुलाव

यहां बिकने वाले गधों में बाॅलीवुड का तड़का लग गया है और गधों का नाम फिल्मी सितारों के नाम पर रखने और उसी के अनुसार उनका मूल्य निर्धारित करने का ट्रेड चल पढ़ा है। इस बार मेले में सलमान, बाहुबली और आलिया नाम के गधों की धूम रही सबसे महंगी रही आलिया जिसका दाम 16,000 रूपए तय किया गया है। वहीं जीएसटी के नाम से बिकने आए गधे की फजीहत हो रही है। उसके मालिक के अनुसार उसे कोई खरीददार नहीं मिल रहा है और अब तो वह जीएसटी नाम के गधे पर होने वाली खालाई-पिलाई से परेशान होकर उसके मालिक उसे मुफ्त में ही देने का विचार कर रहे है। 

अमन वर्मा, IBC24

Web Title : GST facing problem in donkey fair

जरूर देखिये