मैनपुरी में सपा की जीत के लिए अखिलेश ने लोगों का आभार जताया |

मैनपुरी में सपा की जीत के लिए अखिलेश ने लोगों का आभार जताया

मैनपुरी में सपा की जीत के लिए अखिलेश ने लोगों का आभार जताया

: , December 8, 2022 / 08:34 PM IST

मैनपुरी (उप्र) आठ दिसंबर (भाषा) मैनपुरी लोकसभा उपचुनाव की जीत को नेता जी (मुलायम सिंह यादव ) को सच्ची श्रध्दांजलि बताते हुए समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बृहस्पतिवार को कहा कि इससे 2024 के लोकसभा के चुनावों के लिए पार्टी के नेताओं-कार्यकर्ताओं को एक नयी ऊर्जा मिलेगी। अखिलेश ने मैनपुरी में सपा की जीत के लिए लोगों को धन्यवाद दिया।

चुनाव परिणामों की घोषणा के बाद पत्रकारों से बातचीत में सपा अध्यक्ष ने कहा कि उन्हें यह घोषणा करते हुए खुशी है कि “आदरणीय चाचा जी शिवपाल यादव और उनकी पार्टी प्रसपा अब सपा के साथ आ गई है और अब हम सभी एक झंडे के नीचे साथ मिलकर काम करेंगे।”

भतीजे अखिलेश यादव के साथ संबंध कटु होने के बाद अपनी खुद की पार्टी स्थापित करने वाले शिवपाल यादव ने इस उपचुनाव में डिंपल यादव के पक्ष में जमकर प्रचार किया था। शिवपाल यादव की विधानसभा सीट जसवंतनगर, मैनपुरी लोकसभा सीट का हिस्सा है।

मुलायम सिंह यादव के निधन के बाद हुए उपचुनाव में बृहस्पतिवार को समाजवादी प्रत्याशी और पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव ने दो लाख 88 हजार 461 मतों से जीत हासिल की। डिंपल ने छह लाख 18 हजार 120 मत हासिल किये, जबकि भारतीय जनता पार्टी के रघुराज सिंह शाक्य को तीन लाख 29 हजार 659 वोट मिले।

जीत के बाद डिंपल यादव ने पत्रकारों से बातचीत में कहा,”मैनपुरी की जनता का धन्यवाद, यह जीत समाजवादी पार्टी ने दर्ज कराई है, मैनपुरी की यह जीत नेता जी (मुलायम सिंह यादव) को समर्पित है।”

बाद में अखिलेश यादव ने पत्रकारों से बातचीत में कहा, ”यह मैनपुरी के मतदाताओं की जीत हैं, और नेता जी को सच्ची श्रध्दांजलि देने का काम मतदाताओं ने किया है। नकारात्मक राजनीति करने वालों के खिलाफ मतदाताओं ने मतदान किया है।”

उन्होंने कहा, “इस जीत ने एक नया रास्ता खोला है और सपा के नेताओं और कार्यकर्ताओं को और 2024 लोकसभा चुनावों के लिए लोगों को ऊर्जा दी है। लोगों ने इस परिणाम के जरिए 2024 के लिए कार्यकर्ताओं को आश्वस्त किया है और उन लोगों को जवाब दिया है जो महंगाई और बेरोजगारी बढ़ा रहे हैं।”

उप्र सरकार और प्रशासन को कठघरे में खड़ा करते हुए अखिलेश ने कहा,”प्रशासन और सरकार के इशारे पर जनता पर दबाव बनाना चाहते थे, लेकिन मुझे खुशी है कि जनता ने इस दबाव को नहीं माना और नेता जी को याद करके वोट समाजवादी पार्टी के पक्ष में डालने का काम किया।”

उन्होंने कहा कि मैनपुरी की जीत ने 2024 के लोकसभा चुनाव के लिए समाजवादी पार्टी के नेताओं-कार्यकर्ताओं में ऊर्जा भरने का काम किया है।

उन्होंने कहा कि यह जीत यह संदेश देती है कि नकारात्मक राजनीति कभी सफल नहीं होती है। नेता जी (मुलायम) ने हमेशा लोगों को जोड़कर और भाईचारे को लेकर राजनीति की है।

उन्होंने कहा कि मैनपुरी की जनता ने बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर और डॉ. राम मनोहर लोहिया के सपनों को साकार किया है ।

अखिलेश ने कहा कि वह मैनपुरी के साथ-साथ खतौली में रालोद के प्रत्याशी (मदन भैया) को भी जीत की बधाई देते हैं। रामपुर में समाजवादी पार्टी की हार पर दुख जताते हुए अखिलेश ने कहा,”मुझे दुख है इस बात का कि रामपुर में प्रशासन ने पहले तो वोट नही डालने दिया फिर अन्याय किया। अगर रामपुर में निष्पक्ष चुनाव होता और प्रशासन जबरदस्ती नहीं करता तो अभी तक की सबसे बड़ी जीत रामपुर की होती।”

यादव ने पार्टी के नेता शिवपाल यादव, राम अचल राजभर, लाल जी वर्मा, राम गोविंद चौधरी, बलराम यादव से लेकर बूथ स्तर तक के नेताओं-कार्यकर्ताओं को धन्यवाद दिया।

उप्र में हुए उपचुनाव में मैनपुरी लोकसभा सीट सपा प्रत्याशी डिंपल यादव ने, खतौली विधानसभा सीट रालोद-सपा के संयुक्त प्रत्याशी मदन भैया ने जीती है। जबकि रामपुर सीट पर सपा के उम्मीदवार असीम राजा भाजपा प्रत्याशी आकाश सक्सेना से चुनाव हार गये हैं।

भाषा जफर राजेंद्र संतोष

संतोष

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)