जिनके कार्यकाल में बिजली नहीं आती थी, वे अब बिजली मुफ्त देने का वादा कर रहे हैं: योगी आदित्यनाथ

जिनके कार्यकाल में बिजली नहीं आती थी, वे अब बिजली मुफ्त देने का वादा कर रहे हैं: योगी आदित्यनाथ

: , January 28, 2022 / 05:55 PM IST

मेरठ (उप्र), 28 जनवरी (भाषा) उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने समाजवादी पार्टी पर हमला बोलते हुए कहा कि जिनके कार्यकाल में बिजली नहीं आती थी, वे अब बिजली मुफ्त देने का वादा कर रहे हैं।

वह जिला मुख्यालय से करीब 30 किलोमीटर दूर हस्तिनापुर के अयोध्यापुरी में प्रभावी मतदाता संवाद कार्यक्रम में बोल रहे थे।

उन्होंने समाजवादी पार्टी (सपा) पर निशाना साधते हुए कहा कि जिनके कार्यकाल में बिजली नहीं आती थी, अब वही लोग बिजली मुफ्त करने का वादा कर रहे हैं। योगी ने कहा कि ऐसे लोगों को विकास अच्छा नहीं लगता।

मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा सरकार के कार्यकाल में ही किसानों को 14 दिन में गन्ना मूल्य का भुगतान मिल रहा है। उन्होंने कहा कि सपा सरकार में दंगाइयों का सम्मान किया गया और उस दौरान महिलाओं तथा बेटियों की सुरक्षा का किसी ने ख्याल नहीं किया लेकिन अब भाजपा के पांच साल का फर्क साफ नजर आ रहा है।

योगी ने कहा कि उन्होंने पांच साल में 45,00000 गरीबों को आवास देकर ‘‘सबको सुरक्षा और सबको सम्मान’’ की भावना से काम किया। उन्होंने कहा कि केवल भाजपा सरकार ही काम कर सकती है। मुख्यमंत्री ने सभी से मतदान के दिन ‘‘पहले मतदान बाद में जलपान’’ करने की अपील की।

मेरठ पहुंचे मुख्यमंत्री ने इससे पहले मेडिकल कॉलेज में कोविड वार्ड का निरीक्षण करने के बाद बाद संवाददाताओं से कहा कि भारत का कोविड प्रबंधन पूरे देश में सराहा गया और टीके के बारे में शुरुआत में लोगों ने भ्रम फैलाया।

उन्होंने कहा कि कोविड रोधी टीके को ‘‘भाजपा का वैक्सीन’’ कहा गया, लेकिन टीकाकरण के कारण ही तीसरी लहर कम प्रभावी रही। उन्होंने कहा कि जीवन और जीविका बचाने के लिए लोगों को टीके के साथ ही मुफ्त राशन उपलब्ध कराया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि मेरठ में भी 41 लाख से अधिक लोगों को कोविड रोधी टीका लगाया जा चुका है। मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘अनुमान है कि दस दिन के भीतर तीसरी लहर पर भी हम काबू पा लेंगे।’’ योगी ने कहा कि बच्चों को संक्रमण से बचाने के लिए स्कूल कॉलेज बंद हुए हैं और जल्द ही वे भी खुलेंगे।

मेडिकल कॉलेज का निरीक्षण करने के बाद योगी कंकरखेड़ा पहुंचे जहां महिलाओं और बच्चों ने उनका स्वागत किया।

भाषा सं नेत्रपाल

नेत्रपाल

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)