न्यूजीलैंड के पीहा बीच में दो भारतीय डूबे |

न्यूजीलैंड के पीहा बीच में दो भारतीय डूबे

न्यूजीलैंड के पीहा बीच में दो भारतीय डूबे

: , January 24, 2023 / 07:44 PM IST

वेलिंगटन, 24 जनवरी (भाषा) न्यूजीलैंड के पीहा बीच के सबसे खतरनाक स्थानों में से एक में तैरने की कोशिश करते समय दो भारतीय व्यक्ति डूब गए। मीडिया की खबरों से इस बात की जानकारी मिली।

दोनों भारतीय गुजरात के अहमदाबाद के रहने वाले थे और न्यूजीलैंड के ऑकलैंड में एक साथ रहते थे।

द न्यूजीलैंड हेराल्ड अखबार की खबर से पता चला कि मृतकों की पहचान 28 वर्षीय सौरिन नयनकुमार पटेल और 31 वर्षीय अंशुल शाह के रूप में हुई है। उन दोनों ने पिछले हफ्ते नॉर्थ आइलैंड में समुद्र तट पर केवल 30 मिनट का समय ही बिताया था कि उसी समय यह हादसा हो गया। मृतकों के परिवार वालों ने बताया कि उन्हें तैरना नहीं आता था।

दोनों युवकों के एक मित्र हिरेन पटेल ने बताया कि एक अन्य मित्र अपूर्व मोदी भी समुद्र में था। उस दौरान एक तेज लहर ने तीनों को बहा ले गई।

हिरेन ने बताया कि मोदी ने पटेल का हाथ पकड़ने की कोशिश की लेकिन पकड़ नहीं सका। पटेल मदद के लिए चिल्ला रहा था।

हिरेन ने कहा, “यह भगवान की कृपा है कि अपूर्व मोदी बच गया। वह किनारे पर आने में कामयाब रहा लेकिन उसने अपने दोस्तों को खो दिया।”

खबर में कहा गया है कि पटेल एक इलेक्ट्रिकल इंजीनियर था और पिछले साल अगस्त में न्यूजीलैंड आया था जबकि शाह एक गैस स्टेशन पर कैशियर के रूप में काम करता था और नवंबर में यहां आया था।

यूनाइटेड नॉर्थ पीहा सर्फ लाइफसेविंग क्लब के अध्यक्ष रॉबर्ट फर्ग्यूसन ने बताया कि 21 जनवरी को गश्त के दौरान एक जीवन रक्षक (लाइफगार्ड) ने दोनों को एक खतरनाक जगह पर तैरते हुए देखा। बचाव अभियान शुरू किया गया। लेकिन जब तक लाइफगार्ड मदद के लिए पहुचते, तब तक दोनों लापता हो चुके थे।

फर्ग्यूसन के अनुसार, बचाव नौका ने पहले पीड़ित को ढूंढ लिया लेकिन उसे बचाने में विफल रहे।

दूसरे पीड़ित को पुलिस के हेलीकॉप्टर द्वारा देखा गया, लेकिन उसे भी बचाया नहीं जा सका।

फर्ग्यूसन ने बताया, “जहां वे अंदर गए थे, वहां तक तो मैं भी नहीं जाता।”

खबर के अनुसार, भारतीय उच्चायोग के द्वितीय सचिव दुर्गा दास ने मृतकों की पहचान की पुष्टि की और कहा, ‘‘ इन दोनों की मौत भारतीय समुदाय के लिए एक बड़ी त्रासदी है और हमारे संवेदनाएं उनके परिवारों के साथ हैं।”

वेलिंगटन में भारतीय उच्चायोग दोनों पीड़ितों के परिवारों के संपर्क में है।

भाषा जितेंद्र नरेश

नरेश

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)