भारत के 26 जनवरी, 1950 को गणराज्य बनने के साथ ही दुनिया बेहतरी के लिए बदल गई थी: होचुल

भारत के 26 जनवरी, 1950 को गणराज्य बनने के साथ ही दुनिया बेहतरी के लिए बदल गई थी: होचुल

: , January 27, 2022 / 11:18 PM IST

(योषिता सिंह)

न्यूयॉर्क, 27 जनवरी (भाषा) न्यूयॉर्क की गवर्नर कैथी होचुल ने कहा कि 26 जनवरी, 1950 को दुनिया बेहतरी के लिए बदल गई थी जब भारत एक समावेशी, धर्मनिरपेक्ष और बहुलवादी गणराज्य बना था। उन्होंने कहा कि न्यूयॉर्क में लगभग 4,00,000 भारतीय-अमेरिकी हैं जिनका राष्ट्र में योगदान आगे भी जारी रहेगा।

भारत ने बुधवार को अपना 73वां गणतंत्र दिवस मनाया।

गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं देते हुए होचुल ने एक वीडियो में कहा कि 26 जनवरी, 1950 को, ‘‘दुनिया बेहतरी के लिए बदल गई क्योंकि भारत ने अपना संविधान अपनाया था और ब्रिटिश शासन से स्वतंत्रता प्राप्त करने के तीन साल बाद आधिकारिक तौर पर एक समावेशी, धर्मनिरपेक्ष और बहुलवादी गणराज्य बन गया था।’’

होचुल ने कहा कि यह न केवल उस दिन की ऐतिहासिक उपलब्धि को दर्शाने करने का समय है, बल्कि उन योगदानों को उजागर करने का समय भी है जो भारतीय समुदाय ने हर दिन दुनिया भर में दिया है। उन्होंने कहा, ‘‘आज, भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है जो उन मूल्यों पर बना है जो-स्वतंत्रता, समावेशिता, समानता और समृद्धि से जुड़े हुए हैं। ये साझा आदर्श हैं और हम इन्हें एक साथ आगे बढ़ाते हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘न्यूयॉर्क को लगभग 4,00,000 भारतीय अमेरिकियों का घर होने पर ‘गर्व’ है, जिन्होंने हमारे महान राज्य में बहुत योगदान दिया है और मुझे पता है कि राज्य में यह योगदान आगे भी जारी रहेगा।’’

न्यूयॉर्क में भारत के महावाणिज्य दूत रणधीर जायसवाल ने होचुल को उनकी ‘‘हार्दिक शुभकामनाओं’’ के लिए धन्यवाद दिया।

न्यूयॉर्क में भारत के वाणिज्य दूतावास को न्यूयॉर्क राज्य में 26 जनवरी को भारत के गणतंत्र दिवस के रूप में मनाने और घोषित करने के लिए न्यूयॉर्क सीनेट द्वारा पारित एक विधायी प्रस्ताव प्राप्त हुआ।

न्यूयॉर्क में भारत के वाणिज्य दूतावास और संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी मिशन ने 73वें गणतंत्र दिवस को विशेष समारोहों का आयोजन करके मनाया।

भाषा देवेंद्र अर्पणा

अर्पणा

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)