मीडिया, मनोरंजन उद्योग में 2026 तक 4.30 लाख करोड़ रुपये के कारोबार की संभावना: रिपोर्ट

मीडिया, मनोरंजन उद्योग में 2026 तक 4.30 लाख करोड़ रुपये के कारोबार की संभावना: रिपोर्ट

: , June 23, 2022 / 04:58 PM IST

नयी दिल्ली, 23 जून (भाषा) भारतीय मीडिया और मनोरंजन उद्योग वर्ष 2026 तक 4.30 लाख करोड़ रुपये का हो जाएगा। इसके 8.8 प्रतिशत की चक्रवृद्धि वार्षिक वृद्धि दर (सीएजीआर) से बढ़ने की संभावना है। वैश्विक परामर्श कंपनी पीडब्ल्यूसी ने अपनी रिपोर्ट में यह कहा।

रिपोर्ट के अनुसार, घरेलू बाजार में इंटरनेट और मोबाइल उपकरणों की गहरी पैठ के चलते डिजिटल मीडिया और विज्ञापन क्षेत्र में वृद्धि से उद्योग के कारोबार में तेजी आएगी। इसी के साथ पारंपरिक मीडिया में भी स्थिर वृद्धि जारी रहेगी।

रिपोर्ट में कहा गया कि घरेलू टीवी विज्ञापन उद्योग वर्ष 2026 तक 43,000 करोड़ रुपये का हो जाएगा। यह अमेरिका, जापान, चीन और ब्रिटेन के बाद भारत को विश्व का पांचवां सबसे बड़ा टीवी विज्ञापन बाजार बना देगा।

पीडब्ल्यूसी की रिपोर्ट ‘ग्लोबल एंटरटेनमेंट एंड मीडिया आउटलुक 2022-2026’ के अनुसार, भारतीय मीडिया और मनोरंजन क्षेत्र में 2022 के दौरान लगभग 3.14 करोड़ रुपये का कारोबार होने की उम्मीद है, जो 11.4 प्रतिशत की समग्र वृद्धि है।

इसके अलावा भारत के ओटीटी वीडियो सेवा क्षेत्र में अगले चार वर्षों के दौरान 21,031 करोड़ रुपये के कारोबार की उम्मीद है। इसमें से 19,973 करोड़ रुपये का कारोबार सब्स्क्रिप्टशन आधारित सेवाओं तथा 1,058 करोड़ रुपये का लेनदेन किराये या मांग आधारित वीडियो वाले क्षेत्र में होगा।

रिपोर्ट में कहा गया कि टीवी विज्ञापन क्षेत्र वर्ष 2022 में 35,270 करोड़ रुपये से बढ़कर 2026 में 43,568 करोड़ रुपये हो जाएगा, जो 23.52 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज करेगा।

इसके अलावा भारत का इंटरनेट विज्ञापन बाजार भी 12.1 प्रतिशत की सीएजीआर से बढ़कर वर्ष 2026 तक 28,234 करोड़ रुपये तक पहुंचने के लिए तैयार है।

वहीं, संगीत, रेडियो और पॉडकास्ट क्षेत्र वर्ष 2021 में 18 प्रतिशत बढ़कर 7,216 करोड़ रुपये का हो गया और यह वर्ष 2026 तक 9.8 प्रतिशत की सीएजीआर से बढ़कर 11,536 करोड़ रुपये का हो सकता है।

भाषा जतिन पाण्डेय

पाण्डेय

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)